भाजपा

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। महाराष्ट्र (Maharashtra) में जारी सियासी उठापठक के बीच मोदी कैबिनेट विस्तार (Modi Cabinet Expansion)  के बाद बगावत का सिलसिला शुरु हो गया है।एक तरफ LJP नेता चिराग पासवान ने अपने चाचा और केंद्रीय मंत्री पशुपतिनाथ के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है, वही दूसरी तरफ महाराष्ट्र के बीड जिले से बीजेपी सांसद प्रीतम मुंडे (BJP MP Pritam Munde) को मंत्रिमंडल में जगह न मिलने से नाराज 20 से अधिक स्थानीय पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया है।

यह भी पढ़े..MP Assembly 2021 : 9 अगस्त से शुरु होगा विधानसभा का मानसून सत्र, अधिसूचना जारी

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक BJP के स्थानीय नेता ने रविवार को यह जानकारी दी है।उन्होंने बताया कि बीड जिला परिषद और पंचायत समिति के साथ अंबाजोगाई के भाजपा पार्षद, इस्तीफा सौंपने के लिए मुंबई निकल पड़े हैं। पिछले दो दिन में जिन्होंने इस्तीफा दिया है, उनमें बीड जिला परिषद का एक सदस्य और पंचायत समिति का एक सदस्य शामिल है।इसके अलावा BJP जिला महासचिव, युवा इकाई के अध्यक्ष, जिला उपाध्यक्ष, तहसील अध्यक्ष और भाजपा युवा इकाई के जिला उपाध्यक्ष ने भाजपा जिला अध्यक्ष राजेंद्र मस्के को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।

इस पूरे घटनाक्रम के बाद सियासी हलचल तेज हो गई है।भाजपा बीड जिला महासचिव सरजेराव टांडले ने दावा किया है कि मोदी मंत्रिमंडल में प्रीतम मुंडे को जगह मिलने वाली थी, लेकिन अंतिम समय में उन्हें शामिल नहीं किया गया। महाराष्ट्र भाजपा के हजारों कार्यकर्ता मुंडे को मोदी कैबिनेट में देखना चाहते थे, लेकिन अब जब ऐसा नहीं हुआ तो इसलिए इसके विरोध में तमाम नेता पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

यह भी पढ़े.. MPPSC: राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी, 25 जुलाई को होंगे पेपर

वही दूसरी तरफ महाराष्ट्र भाजपा के बड़े नेताओं में शुमार और भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव पंकजा मुंडे (BJP National General Secretary Pankaja Munde) ने अपनी बहन और सांसद प्रीतम मुंडे को मंत्रिपरिषद में शामिल न किए जाने से नाराज होने की खबरों का खंडन किया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि बहुत जल्द मोदी मंत्रिमंडल में उन्हें जगह दी जाएगी। वही सूत्रों की मानें तो पंकजा मंगलवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलेंगी और उन्हें इस्तीफा वापस लेने के लिए मनाएंगी।