IAS के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज, काम दिलाने का झांसा देकर रेप का आरोप

छत्तीसगढ़ में एक IAS अधिकारी पर लगे बलात्कार (Rape) के आरोपों ने हड़कंप मचा दिया है। अधिकारी पर जांजगीर चांपा (Janjgir-Champa) के कलेक्टर (Collector) के पद पर रहते हुए काम दिलाने का झांसा देकर रेप का गंभीर आरोप लगा है। महिला की शिकायत पर जांजगीर चांपा जिले के पूर्व कलेक्टर जे पी पाठक के खिलाफ कोतवाली थाना मे दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है| पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर के बयान के मुताबिक पीड़िता ने वीडियो फूटेज और अश्लील मैसेज का साक्ष्य दिया है| पीड़िता के मुताबिक कलेक्टर जनक प्रसाद पाठक ने अपने कार्यालय के रेस्ट रुम में दुष्कर्म किया|

महिला की शिकायत के बाद मौजूदा कलेक्टर यशवंत कुमार ने एसपी पारूल माथुर को जांच के निर्देश दिये हैं। आरोप लगाने वाली महिला शादीशुदा है और पूर्व जनपद सदस्य रह चुकी है। उसने अपनी शिकायत के साथ पुलिस को कई साक्ष्य भी सौंपे हैं। इस मामले पर चीफ सेक्रेट्री आरपी मंडल ने कहा है कि उनके पास अभी इस मामले की कोई जानकारी नहीं आयी है, लेकिन वो पूरी घटना की जानकारी लेने के बाद इसकी जांच कराएंगे। वहीं इस सनसनीखेज आरोप के बाद सरकार ने भी मामले पर संज्ञान लिया है। इस मामले में जनसंपर्क आयुक्त तारण सिन्हा ने कहा है कि IAS के खिलाफ रेप की शिकायत आयी है, शिकायत मिलने के बाद अब अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

तबादला होते ही कराई शिकायत
पीड़ित महिला का कहना है कि कलेक्टर ने कलेक्ट्रेट में ही अपने चैंबर में ही उसके साथ रेप किया। 15 मई को वो अपने एनजीओ को काम दिलाने के सिलसिले में वहां गई थी, तभी एनजीओ का काम दिलाने का झांसा देकर कलेक्टर ने उसका बलात्कार किया। महिला का आरोप है कि कलेक्टर ने ऐसा कई बार किया और हर बार कहता रहा कि उसे काम दिलाया जाएगा, लगभग डेढ़ महीने तक यही सिलसिला चलता रहा। लेकिन इतने समय बाद भी काम न मिलने पर महिला ने उससे दूरी बनाना शुर कर दिया। महिला का कहना है कि इसके बाद कलेक्टर ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया और उसके पति की नौकरी ले डालने की धमकी तक दे डाली। महिला के मुताबिक डर के कारण ही वो उनके वहां कलेक्टर रहते शिकायत नहीं कर पाई और तबादला होने के बाद रिपोर्ट दर्ज कराई।