लापरवाही पर सीईओ का बड़ा एक्शन- 52 कर्मचारियों का वेतन काटा, होगी कार्रवाई

सीईओ डॉ.अरुणवीर सिंह द्वारा 2 दिन औचक निरीक्षण के दौरान लगातार 52 कर्मचारियों के गैरहाजिर होने पर एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया है।

mp pensioners
demo pic

लखनऊ, डेस्क रिपोर्ट। उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ के सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों की उपस्थिति को लेकर जारी आदेश के बाद लापरवाहों पर कार्रवाई का सिलसिला जारी है। अब यमुना प्राधिकरण के सीईओ ने बड़ी कार्रवाई करते हुए ऑफिस में गैर हाजिर रहने वाले 52 कर्मचारियों का वेतन काट दिया है।वही चेतावनी देते हुए कहा कि भविष्य में अगर कोई कर्मचारी 3 दिन से ज्यादा गायब रहता है तो उस पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।इसमें निलंबित भी किया जा सकता है।

यह भी पढ़े.. MP Job Alert: युवाओं के लिए नौकरी पाने का सुनहरा मौका, रोजगार मेले का आयोजन, 25000 तक सैलरी

दरअसल, बीते दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों के ऑफिस में लेट पहुंचने, गैर हाजिर रहने, बिना बताए लंबी छुट्टी जाने और लंच टाइम में गायब होने पर नाराजगी जाहिर की थी। इसके बाद उन्होंने फरमान जारी कर प्रदेश में सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए समय पर ऑफिस पहुंचने को अनिवार्य कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों के विभागाध्यक्ष को सख्ती से आदेश लागू करने का निर्देश दिया है, जिसमें 9:30 बजे तक दफ्तर पहुंचने के निर्देश दिए गए थे और लापरवाही या फिर उलंघन करने पर वेतन काटने की कार्रवाई के निर्देश दिए गए थे। जिसके बाद यमुना प्राधिकरण के सीईओ ने बड़ा एक्शन लिया है।

यह भी पढ़े.. MP: कर्मचारियों को बड़ी सौगात, मिलेगा 11-11 हजार का बोनस, मई में इतनी बढ़कर आएगी सैलरी

यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुणवीर सिंह द्वारा 2 दिन औचक निरीक्षण के दौरान लगातार 52 कर्मचारियों के गैरहाजिर होने पर एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया है और कहा है कि यदि कोई कर्मचारी महीने में 3 दिन लगातार बिना किसी सूचना के गैरहाजिर मिलता है, तो उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई होगी। उसे निलंबित भी किया जा सकता है।इसमे गुरूवार को 35 और फिर शुक्रवार को 17 कर्मचारी गैर हाजिर मिले थे।