रायपुर।

कोरोना संकटकाल (Corona crisis) के बीच छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) से बड़ी खबर मिल रही है।  सूरजपुर जिले के बिहारपुर भाजपा किसान मोर्चा के मंडल अध्यक्ष शिवचरण काशी (Divisional President of Biharpur BJP Kisan Morcha Shivcharan Kashi)  की सिर कटी लाश मिलने से सनसनी फैल गई है। सूचना के बाद मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर मौजूद है। घटना के बाद गांव में शोक के साथ-साथ आक्रोश का माहौल है। इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस का कहना है कि शाम तक स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

यह घटना ग्राम पासल से लगे ग्राम विशालपुर की है, जहां रेडी पहरी चौक के पास भाजपा नेता शिवचरण काशी की लाश टुकड़ों में मिली है। शनिवार रात 8 बजे वे किसी से मिलने की बात कहकर घर से निकले थे। रात लगभग नौ बजे लोगों ने घर से एक किमी स्थित पासल चौक पर धमाके की आवाज सुनी। जब ग्रामीणों ने वहां जाकर देखा तो शिवचरण का गमछा और कुछ कागज पड़े थे और आसपास खून के छींटे थे। ग्रामीणो ने इसकी जानकारी पुलिस को दी इसके बाद आज सुबह उनकी लाश उनके गांव से तकरीबन पांच किलोमीटर दूर विशालपुर के पास रेहड़ीपहरी जंगल में मिली है।ऐसा कहा जा रहा है कि जमीनी विवाद के चलते उनकी हत्या की गई है।फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

एमपी के व्यक्ति से चल रहा था विवाद
बताया जा रहा है कि शिवचरण का मध्य प्रदेश के सिंगरौली निवासी एक व्यक्ति से जमीनी विवाद चल रहा था। मध्य प्रदेश के निवासी ने पासल गांव में ही जमीन खरीदी थी। इस जमीन को लेकर काफी लंबे वक्त से विवाद चल रहा था। यह मामला न्यायालय में विचाराधीन था। इसी बीच 13 जून को भाजपा किसान मोर्चा के मण्डल अध्यक्ष रोज की तरह पासल चौक से पैदल घर वापस लौट रहे थे, तभी करीब नौ बजे अपने घर से 200 मीटर की दूरी से रहस्यमयी ढंग से गायब हो गए थे।