CG Weather: मानसून के साथ 3 सिस्टम एक्टिव, कई जिलों में बारिश की चेतावनी, जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

बारिश का यह दौर अभी जारी रहेगा। 17 और 18 सितंबर को कम बारिश लेकिन 21 सितंबर को  एक बार तेज बारिश के संकेत है।इसके बाद सितंबर के अंत से मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी।

cg weather

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। छत्तीसगढ़ में सितंबर के अंत तक बारिश के आसार है। एक द्रोणिका उत्तर-पश्चिम अरब सागर से उत्तर बांग्लादेश तक उत्तर छत्तीसगढ़ होते हुए 4.5 किमी ऊंचाइ पर स्थित है। इसके प्रभाव से उत्तर छत्तीसगढ़ में भारी वर्षा हो सकती है। छग मौसम विभाग (CG Weather Department) ने आज 14 सितंबर बुधवार को अनेक स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। वही एक-दो स्थानों पर वज्रपात और भारी वर्षा होने के आसार है।इधर, बिलासपुर और बस्तर संभाग में अच्छी बारिश हो रही है, जिसके बाद राज्य सरकार भी अलर्ट हो गई है और सभी को सतर्क रहने के साथ राहत बचाव दल को तैयार रहने को कहा है।

यह भी पढ़े..UP Weather: मानसून की सक्रियता बढ़ी, 30 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Alert) के अनुसार, मानसून द्रोणिका और चक्रीय चक्रवाती घेरे के प्रभाव से प्रदेश में आज 14 सितंबर को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश होने अथवा गरज चमक के साथ बौछार की संभावना है। वही एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात के साथ भारी बारिश के आसार है।प्रदेश में भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः उत्तर छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है। बारिश का यह दौर अभी जारी रहेगा। 17 और 18 सितंबर को कम बारिश लेकिन 21 सितंबर को  एक बार तेज बारिश के संकेत है।इसके बाद सितंबर के अंत से मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी।

यह भी पढ़े..MP Weather: मानसून सक्रिय, 27 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, तवा डैम के गेट खोले, 6 संभागों में बिजली गिरने की चेतावनी, जानें शहरों का हाल

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Forecast) के अनुसार, चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र मध्य प्रदेश के मध्य भाग में स्थित है, इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। मानसून द्रोणिका जैसलमेर, कोटा, गुना, निम्न दाब के केंद्र, पेंड्रा रोड, जमशेदपुर, दीघा, और उसके बाद पूर्व-दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक माध्य समुद्र तल पर स्थित है। एक द्रोणिका उत्तर- पश्चिम अरब सागर से उत्तर बांग्लादेश तक उत्तर छत्तीसगढ़ होते हुए 4.5 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। इसके प्रभाव से आज प्रदेश में गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।

13 सितंबर तक कहां कितनी हुई बारिश

  • राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 1124.5 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है।
  • राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 13 सितम्बर तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 2249.9 मिमी और सरगुजा में जिले में सबसे कम 507.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।
  • राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 823.6 मिमी, बलरामपुर में 808.3 मिमी, जशपुर में 850.7 मिमी, कोरिया में 763.1 मिमी, रायपुर में 809.3 मिमी, बलौदाबाजार में 1045.8 मिमी, गरियाबंद में 1134.9 मिमी, महासमुंद में 1067.9 मिमी, धमतरी में 1189.8 मिमी।
  • बिलासपुर में 1274.5 मिमी, मुंगेली में 1161.3 मिमी, रायगढ़ में 1037.0 मिमी, जांजगीर-चांपा में 1209.7 मिमी, कोरबा में 1036.6 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 949.3 मिमी, दुर्ग में 924.8 मिमी, कबीरधाम में 998.7 मिमी, राजनांदगांव में 1122.0 मिमी, बालोद में 1218.0 मिमी, बेमेतरा में 653.8 मिमी, बस्तर में 1649.0 मिमी, कोण्डागांव में 1174.6 मिमी, कांकेर में 1444.7 मिमी, नारायणपुर में 1298.9 मिमी, दंतेवाड़ा में 1695.7 मिमी और सुकमा में 1388.3 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।