दिल्ली में धूमधाम से मनाया जाएगा छठ का महापर्व, CM केजरीवाल ने किये ये बड़े ऐलान

CM केजरीवाल ने ऐलान करते हुए कहा है कि दिल्ली में 1,100 जगहों पर सामूहिक स्थानों पर छठ पूजा मनाई जाएगी और इसके लिए आम आदमी पार्टी यानि आप सरकार 25 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आगामी त्योहार छठ को लेकर बड़ा ऐलान किया है। बता दें कि दिल्ली में बसे बिहारियों के लिए इस बार दिल्ली सरकार ने उन्हें बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल, दिल्ली सरकार इस वर्ष धूमधाम से छठ त्योहार को मनाएगी। CM केजरीवाल ने ऐलान करते हुए कहा है कि दिल्ली में 1,100 जगहों पर सामूहिक स्थानों पर छठ पूजा मनाई जाएगी और इसके लिए आम आदमी पार्टी यानि आप सरकार 25 करोड़ रुपये खर्च करेगी। जिसके बाद लोगों में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें – ये राज्य सरकार इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने पर दे रही भारी सब्सिडी, घोषित की EV पॉलिसी, जानें डिटेल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यूट्यूब पर छठ को लेकर प्रेस कांफेंस की। इस दौरान उन्होंने कहा कि, दिल्ली में छठ पूजा बहुत छोटे स्तर पर मनाई जाती थी। 2014 में केवल 69 स्थानों पर दिल्ली सरकार द्वारा छठ पूजा का आयोजन करती थी और इसके लिए 2.50 करोड़ रुपये खर्च करती थी लेकिन 2014 में जब हमारी सरकार बनी तो हमने इस त्योहार को बड़े पैमाने पर मानने का फैसला किया। 30 और 31 अक्टूबर को छठ का त्योहार है, दो साल से कोरोना की वजह से हम सार्वजनिक रूप से बड़े स्तर पर दिल्ली में छठ पूजा का आयोजन नहीं हो पाया लेकिन इस बार हम सब लोग मिलकर, पूरा देश छठी मैया और सूर्य भगवान की पूजा करेंगे, सब लोगों के स्वास्थ्य, सब लोगों की तरक्की के लिए हम आशीर्वाद मांगेगे।

यह भी पढ़ें – करवा चौथ के दिन सुर्ख लाल रंग की साड़ी में नजर आई Shilpa Shetty, खूबसूरती के मुरीद हुए फैंस

साथ ही उन्होंने कहा कि, “दो साल से आप लोग घरों में बंद थे कोरोना की वजह से, इसलिए इस बार आप सब पूरे परिवार के साथ छठ पूजा मनाएं इसके लिए बहुत सारी तैयारियां की जा रही है। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस हमारा पूरा सहयोग कर रही है। जगह-जगह पर, साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी, पीने के पानी का भी पूरा प्रबंध किया जा रहा है।”

छठ आमतौर पर बिहार का महापर्व है, वैसे तो यह केवल बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश और विदेशों में भी मनाया जाता है लेकिन इसकी विशेष आस्था बिहार और इसकी सीमा को छूते राज्यों में देखने को मिलती है इसलिए लोग कहीं भी हो, कितने भी व्यस्त हो इस पर्व के लिए समय निकाल कर अपने घर को वापस लौटते हैं। इस त्यौहार के लिए उत्तर-पूर्वी इलाकों के लोगों में काफी उत्साह और हर्षल्लास देखने को मिलता है। लोग इसकी तैयारियां दिवाली बीतने के बाद ही शुरू कर देते हैं।

यह भी पढ़ें – PCC पहुंचे शशि थरूर, कहा- पार्टी में नई ऊर्जा लाने की यह कवायद