clash-between-two-groups-of-bjp-leaders-at-jalgaon-maharashtra-

जलगांव| लोकसभा चुनाव को लेकर राजनीति का पारा इस कदर चढ़ा हुआ है कि नेता विरोध पार्टी पर ही जुबानी हमले नहीं कर रहे बल्कि अपने ही नेताओं पर लात जूते और मुक्के बरसाने पर उतारू हैं| पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के संत कबीरनगर में भाजपा सांसद और भाजपा विधायक के बीच जूतम-पैजार की घटना के बाद अब महाराष्ट्र के जलगांव में भाजपा कार्यकर्ताओं के दो गुटों में मारपीट का मामला सामने आया है।

भाजपा कार्यकर्ता तब आपस में भिड़ गए जब महाराष्ट्र के सिंचाई मंत्री गिरीष महाजन एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। लोकसभा चुनाव को लेकर बुधवार शाम करीब पांच बजे जलगांव के आलमनेर में भाजपा-शिवसेना कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई थी, जिसमें 50 से अधिक पदाधिकारी और सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद थे। बैठक के दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष उदय वाघ और पूर्व विधायक बीएस पाटील के बीच बहस हो गई। मामला इस कदर बढ़ा कि बाघ के समर्थकों ने पाटिल को मंच पर पटक पर उनकी पिटाई शुरू कर दी। दोनों पक्षों के लोगों ने जमकर लात-जूते चले। खास बात यह थी कि मंच पर उस दौरान भाजपा के वरिष्ठ नेता और राज्य के जल संसाधन मंत्री गिरीश महाजन भी मौजूद थे। बीच-बचाव के प्रयास में महाजन के साथ भी धक्कामुक्की हुई| 

बता दें कि टिकट को लेकर यहां दो गुटों में टकराव की स्तिथि है| एक नेता को पहले टिकट मिला भी था, लेकिन बाद में टिकट बदलकर दूसरे उम्मीदवार को मिल गया था| इसी के चलते यहां पर दोनों के समर्थकों के बीच माहौल गरम हो गया| दरअसल भाजपा की ओर से पहले स्मिता वाघ को जलगांव लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया गया था| बाद में पार्टी ने उन्मेश पाटिल को टिकट दे दिया| वाघ के समर्थकों का मानना है कि पाटिल के विरोध के चलते ही टिकट में फेरबदल हुआ|