महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट से पहले देवेंद्र फडणवीस और अजीत पवार का इस्तीफा

मुंबई| महाराष्ट्र में सियासी घमासान के बीच अब एक और उलटफेर हुआ है|  फ्लोर टेस्ट से एक दिन पहले मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पद से इस्तीफा दे दिया।  फडणवीस ने प्रेस कांफ्रेंस लेकर इसकी जानकारी दी है। इसके पूर्व अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री देवेंद्र फ़डणवीस को सौंप दिया था। 

देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार ने शनिवार सुबह राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी की मौजूदगी में पद और गोपनीयता की शपथ ली थी।   फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैं राज्यपाल को इस्तीफा देने जा रहा हूं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र ने सबसे बड़ा जनादेश भाजपा को दिया। हमें 70% और शिवसेना को 40% सीटें मिलीं। उन लोगों ने मोलभाव शुरू किया। हमने साफ कहा था कि जो बात तय ही नहीं हुई। उसकी जिद न करें।  उन्होंने कहा कि विधानसभा में भाजपा शिवसेना गठबंधन को जनता ने खुलकर मतदान किया। गठबंधन को पूर्ण जनादेश मिला था। भाजपा को सबसे बड़ी पार्टी भी बनाया। हमने शिवसेना के साथ ही चुनाव लड़ा, लेकिन हमारा स्ट्राइक रेट शिवसेना से ज्यादा था।

फडणवीस ने शिवसेना,एनसीपी और कांग्रेस पर भी निशाना साधाा और कहा कि तीन पहियों की गठबंधन सरकार ज्यादा दिन नहीं चलेगी। शिवसेना का एजेंडा सिर्फ सत्ता हासिल करना है। हालांकि हम भी मजबूत विपक्ष का काम करेंगे। इससे पहले मंगलवार सुबह सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के मामले में फैसला सुनाया और बुधवार शाम 5 बजे तक विधायकों की शपथ और इसके बाद फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया।