Farmers Protest : कृषि मंत्री का बेतुका बयान- आत्महत्या करने वाले किसान कायर

कोडागु जिले के पोनमपेट में किसानों को संबोधित करते हुए कर्नाटक के कृषि मंत्री बीसी पाटिल ने कहा,जो किसान आत्महत्या करते हैं वह कायर हैं।केवल वह डरपोक ही आत्महत्या करते हैं,जो अपनी पत्नी एवं बच्चों की देख-रेख नहीं कर सकते है।

बेंगलुरु, डेस्क रिपोर्ट। एक तरफ देश में किसानों आंदोलन (Farmers Protest) चल रहा है और केन्द्र की मोदी सरकार (Modi Government) उन्हें मनाने की कोशिश में जुटी है वही दूसरी तरफ कर्नाटक (Karnataka) के कृषि मंत्री बीसी पाटिल (Agriculture Minister BC Patil) ने किसानों (Farmers) पर विवादित बयान देकर सियासी गलियारों में खलबली मचा दी है।

पाटिल का कहना है कि आत्महत्या (Suicide) करने वाले किसान कायर हैं। कोडागु जिले के पोनमपेट में किसानों को संबोधित करते हुए कर्नाटक के कृषि मंत्री बीसी पाटिल ने कहा,जो किसान आत्महत्या करते हैं वह कायर हैं।केवल वह डरपोक ही आत्महत्या करते हैं,जो अपनी पत्नी एवं बच्चों की देख-रेख नहीं कर सकते है।

पाटिल यही नही रुके और उन्होंने आगे कहा कि जब हम पानी में गिरे हैं तो तैरना होगा और जीतना होगा।कायरों को इस बात का एहसास नहीं कि कृषि का बिजनेस लाभदायक है मगर अपनी जान ले लेते हैं। उन्होंने सोने की चूड़ियां पहनने वाली एक महिला का उदाहरण देते हुए कहा कि मैंने जब महिला से पूछा कि उसके हाथ सोने की चूड़ियों से भरे हुए हैं। तो आप जानते हैं उस महिला मुझसे क्या कहा? ये 35 सालों की कड़ी मेहनत के बदले में धरती मां ने मुझे दिए हैं।