राज्यसभा: कांग्रेस के 2 और विधायकों का इस्तीफा, BJP पर लगे हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप

नई दिल्ली।
कोरोना संकट ( Corona crisis) और लॉकडाउन (lockdown) के बीच कांग्रेस (congress) दिनों दिन कमजोर होती जा रही है।एक तरफ मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों(madhypradesh vidhansabha election) में चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर(prashant kishor) ने पार्टी के साथ काम करने से मना किया था और अब गुजरात(gujarat) में राज्यसभा चुनाव (rajyasabha election) से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के दो विधायकों(congress mla) ने इस्तीफा दे दिया है।

कर्जन सीट से अक्षय वड़ोदरा और कपराडा सीट से जीतू वलसाड ने विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी को गुरुवार को अपना इस्तीफा सौंप दिया है। अध्यक्ष ने दोनों विधायकों का इस्तीफा स्वीकार भी कर लिया गया है। हाल ही में दोनों विधायकों ने सीएम विजय रूपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल से मुलाकात की थी, जिसे उन्होंने कोरोना को लेकर एक सामान्य चर्चा बताया था। इससे पूर्व मार्च में भी कांग्रेस पांच विधायकों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।यहां कांग्रेस दिनों दिन कमजोर होती जा रही है।अब कांग्रेस के पास केवल 68 विधायक बचे है।

इस मामले में वरिष्ठ कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने ट्वीट कर गुजरात सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा गुजरात सरकार ने राज्य की जनता को वैश्विक महामारी के बीच छोड़ दिया है, लेकिन राज्ससभा चुनावों में हार्स ट्रेडिंग में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

19 जून को 24 सीटों के लिए होना है चुनाव
राज्यसभा की 24 सीटों के लिए 19 जून को चुनाव होने है। भाजपा राज्यसभा की दो सीटें आसानी से जीत रही है। तीसरी सीट के लिए जोड़-तोड़ की राजनीति चल रही है। आंकड़ों के अनुसार 3 सीटें जीतने के लिए भाजपा को 106 विधायकों की जरूरत पड़ेगी। अभी तीन विधायक भाजपा के पास कम थे, लेकिन दो विधायकों के इस्तीफा देने से मजबूती मिली है। भाजपा ने अभय भारद्वाज, रमीला बारा और नरहरी अमीन को राज्यसभा चुनाव के लिए मैदान में उतारा है, जबकि कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता शक्तिसिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी को उम्मीदवार बनाया है।