Rajasthan Crisis: Sachin Pilot खेमे को बड़ा झटका, 2 बागी विधायक निलंबित

जयपुर।
कोरोना संकटकाल (corona crisis) के बीच राजस्थान (rajasthan) में सियासी घमासान जारी है। सचिन पायलट (Sachin Pilot) के हाईकोर्ट (highcourt) की तरफ रुख करने के बाद कांग्रेस ने बड़ा एक्शन लिया है। कांग्रेस ने बागी विधायक भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह (Rebel MLAs Bhanwarlal Sharma and Vishvendra Singh) को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है।पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। इन दोनों विधायकों पर भारतीय जनता पार्टी (bjp) से सांठगांठ करके गहलोत सरकार गिराने का आरोप है।

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला (Congress leader Randeep Surjewala) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आरोप लगाया कि करोड़ों रुपए में विधायकों की निष्ठा खरीदने की कोशिश की गई। विधायकों भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है। कल मीडिया ने चौंकाने वाले टेप दिखाए गए, जिसमें केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, भाजपा नेता संजय जैन और कांग्रेस विधायक भंवर लाल शर्मा ने सरकार गिराने की बात कही।रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राजस्थान में पिछले एक महीने में राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त की बातचीत चल रही थी। एसओजी इस मामले में जांच कर रहा है। उन्होंने बताया कि मीडिया द्वारा एक चौंकाने वाला ऑडियो टेप सामने लाया गया था जिसमें केंद्रीय मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत, भाजपा नेता संजय जैन और भंवरलाल शर्मा विधायकों को रिश्वत देने और राजस्थान सरकार गिराने की बात कर रहे हैं।

इधर, राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष की तरफ से जारी अयोग्यता नोटिस के खिलाफ Sachin Pilot समेत 19 बागी विधायकों की याचिका पर आज फिर हाई कोर्ट में सुनवाई होगी। सचिन पायलट और बागी विधायक गुरुवार को हाई कोर्ट पहुंचे थे। हाई कोर्ट की डबल बेंच आज दोपहर 1 बजे इस मामले की सुनवाई करेगी।इस बीच खबर है कि सचिन पायलट के पांच साथी विधायकों ने उनका साथ छोड़ दिया है। इस तरह अब उनके पास 30 की जगह 25 विधायक ही बच गए हैं। पायलट का साथ छोड़ने वालों में प्रताप सिंह खाचरियावास, दानिश अबरार, चेतन डूडी, रोहित बेहरा और प्रशांत बैरवा शामिल है। ये सभी सचिन पायलक के खास माने जाते हैं।