AIMIM पार्टी के UP अध्यक्ष शौकत अली का विवादित बयान, हिंदुओं को लेकर कहे आपत्तिजनक बोल

डेस्क रिपोर्ट।  AIMIM पार्टी के उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष शौकत अली का एक विवादित बयान सामने आया है, शौकत अली ने हिंदुओं को लेकर यह बयान दिया है। प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली शुक्रवार देर रात संभल पहुंचे थे। वह मोहल्ला चौधरी सराय में चेयरमैन पद के दावेदार चौधरी मुशीर खां के लिए सभा को संबोधित कर रहे थे। इस सभा में ही शौकत अली ने कहा कि  कि “मुसलमान 2 शादी करता है और दोनों बीवियों को सम्मान के साथ रखता है। उनके बच्चों को अपना नाम देता है। हिंदू 1 शादी करता है और 3 नाजायज औरतें रखता है। उनसे नाजायज बच्चे पैदा करता है। उसके बाद बिना मां-बाप के वो बच्चे अपराध करते हैं।” उनके इस बयान के वीडियो के वायरल होते ही हड़कंप मच गया जिसके बाद शौकत अली के खिलाफ सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें…. नशे के सौदागरों के खिलाफ प्रशासन का कड़ा एक्शन, रतलाम में 29 ढाबों पर चली JCB

शौकत ने कहा, “जो लोग मुसलमान को कमजोर समझते हैं, वो जान लें कि हम कोई मूली, गाजर और प्याज नहीं जो आप हमें काट देंगे। जो साधु यह बयान दे रहे हैं। वो अगर मुस्लिम का गुस्से वाला चेहरा देख लेंगे तो डर जाएंगे।” हालांकि शौकत अली के खिलाफ केस दर्ज हो गया है। शौकत अली ने कहा, “अब तक मुसलमान बहुत सुन चुका है। लेकिन अब वो बोलेगा और दूसरे सुनेंगे। मुसलमानों को टारगेट करना बहुत आसान है। जब भी बीजेपी कमजोर होती है, हमें बीच में लेकर आ जाती है। कभी ये हम लोगों के बच्चों की संख्या को टारगेट करते हैं। कभी हमारी शादियों को लेकर बयान देते हैं।” उन्होंने आगे कहा, “हम ज्यादा शादी करते हैं तो सारी बीवियों को समाज में इज्जत भी दिलवाते हैं। सभी बच्चों का नाम आधार कार्ड, राशन कार्ड में दर्ज करवाते हैं। उन्हें छोड़ नहीं देते हैं। हिंदू 1 शादी करके 3 औरतों से संबंध रखता है और किसी को नहीं बताता है। अपने नाजायज बच्चों को छोड़ देता है। वही बच्चे नारे लगाते हैं, मारपीट करते हैं। ये लोग अपने ऐसे बच्चों को कभी भी अपना नाम नहीं देते हैं।”

शौकत अली यही नहीं रुके उन्होंने कहा कि “832 साल से ज्यादा हम लोगों ने देश पर हुकूमत की है। हिंदू हमारे बादशाहों के सामने हाथ पीछे बांधकर जी हजूरी करते थे। हमने तुम्हारी बहन जोधा बाई को हिंदुस्तान की मलिका बनाया था। हम लोगों ने कभी भेद-भाव नहीं किया है। हम तो तुम्हारे लोगों को ऊपर ला रहे हैं, लेकिन फिर भी इन लोगों को ऐसा करने में दिक्कत हो रही है।”