फिर लौटा कोरोना, उत्तराखंड में 11 आईएफएस अधिकारी पाए गए पॉजिटिव

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के कई हिस्सों में कोरोना ने खतरे की घंटी बजा दी है। उत्तराखंड में 11 आईएफएस अधिकारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। यह लोग ट्रेनिंग के लिए देहरादून आए थे। विशेषज्ञों का मानना है कि सर्दियों में कोरोना की संक्रमण दर बढ़ती है और यह सच साबित हो रही है। मौसम के बदलने के साथ ही कोरोना के संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। देहरादून स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी में ट्रेनिंग के लिए आए 11 आईएफएस अधिकारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इन सभी को परिसर में स्थित हॉस्पिटल में आइसोलेट किया गया है।

जब खुला लक्जरी कार का शीशा, सामने आया राज..

दरअसल 48 अधिकारियों का दल लखनऊ ट्रेनिंग के बाद दिल्ली गया और दिल्ली से देहरादून आया। इस दौरान जब सैंपल लिए गए तो 8 अफसर संक्रमित पाए गए और उसके बाद तीन अन्य अधिकारी संक्रमित मिले। देहरादून में ही तिब्बती कॉलोनी में छह अन्य लोगों को भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। अब जिस इलाके में अधिकारियों को आइसोलेट किया गया है उसके साथ तिब्बती कॉलोनी को भी कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। देश की अगर बात की जाए तो पिछले 24 घंटों में कोरोना के लगभग 9000 मामले सामने आए हैं और 396 लोगों की मौत कोरोना से हो गई है। देशभर में सक्रिय मामले कुल 109940 हैं।

महिला प्राचार्य ने ​​​​​नेत्रहीन टीचर से मांगी रिश्वत, लोकायुक्त ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

पिछले 9 दिनों में मृत्यु दर में 121% की बढ़ोतरी हुई है। 15 नवंबर को देश में 197 लोगों की मौत हुई थी वही 23 नवंबर को यह 437 हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को 13 राज्यों को चिट्ठी लिखी है और उनसे टेस्टिंग की घटती तादाद को लेकर चिंता जाहिर की है। देहरादून के अलावा कर्नाटक के धारवाड़ में भी 66 मेडिकल स्टूडेंट कोरोना संक्रमित मिले हैं। यह सभी फुली वैक्सीनेटेड है। कुछ दिन पहले ही ये लोग किसी कार्यक्रम में शामिल हुए थे और टेस्ट करने के दौरान पॉजिटिव पाए गए।