देश में छिड़ी नई बहस, अब INDIA कहना होगा बंद! गठबंधन ने साधा मोदी सरकार पर निशाना, सहवाग आये BHARAT के समर्थन में

A new debate INDIA or BHARAT: भारत को अंग्रेजी में क्या अब INDIA कहना बंद हो जायेगा, क्या उसे अब BHARAT ही लिखा जायेगा और BHARAT की बुलाया जायेगा? अब इस मुद्दे पर नई बहस देश में छिड़ी हुई है, इस चर्चा को तब और हवा मिली जब G-20 सम्मेलन के लिए राष्ट्रपति द्वारा मेहमानों को भेजे गए एक आमंत्रण पत्र में प्रेसिडेंट ऑफ ‘इंडिया’ की जगह प्रेसिडेंट ऑफ ‘भारत’ शब्द का इस्तेमाल किया गया है। अब  देश में ये चर्चा बहुत जोरों पर हैं कि संसद के विशेष सत्र में मोदी सरकार इस पर बिल ला सकती है, उधर I.N.D.I.A. गठबंधन में शामिल दल इसे लेकर मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

President Of Bharat लिखा आमंत्रण पात्र आया बाहर, नई बहस शुरू 

आज सोशल मीडिया पर एक आमंत्रण पत्र बहुत तेजी से वायरल हो रहा है,  आमंत्रण पत्र राष्ट्रपति द्वारा G-20 सम्मेलन के मेहमानों को 9 सितंबर को दिए जाने वाले डिनर का है जिसे वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी ने भी अपने ट्विटर पर शेयर किया है इसमें प्रेसिडेंट ऑफ ‘इंडिया’ की जगह प्रेसिडेंट ऑफ ‘भारत’ शब्द का इस्तेमाल किया गया है, ये आमंत्रण पत्र सही है या फिर झूठा ये जाँच का विषय है लेकिन इसने देश में एक नई बहस को जन्म दे दिया है।

Continue Reading

About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....