एक मौका दे दीजिए, हरियाणा की तस्वीर बदल दूंगा : सीएम केजरीवाल

आज मुझे खुशी है कि मैं अपनी जन्मभूमि में रैली कर रहा हूं।

नई दिल्ली,डेस्क रिपोर्ट। कुरुक्षेत्र के ब्रह्मसरोवर मेला ग्राउंड में आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (delhi cm arvind kejriwal) ने ‘अब बदलेगा हरियाणा’ रैली में हिस्सा लिया। और इस दौरान केजरीवाल ने हरियाणवीं बोली से संबोधन करते हुए कहा कि मैं सीधा-साधा छोरा हूं। मुझे राजनीति करनी नहीं आती। मन्ने काम करना आवे है, मेरे ते कितनाये काम करा लो।

यह भी पढ़े…Char Dham Yatra को लेकर अभी तक नहीं रुका तीर्थ यात्रियों की मौतों का सिलसिला, जाने क्या कहना है अधिकारियों का

सीएम केजरीवाल ने कहा कि त्रेतायुग में रामचन्द्र जी ने रावण का घमंड तोड़ा था। द्वापरयुग में कृष्ण जी ने कंस का घमंड तोड़ा था। कलयुग में किसानों ने भाजपाइयों का घमंड तोड़ा है। मैं सारे किसान भाइयों को बधाई देता हूं। केजरीवाल ने कहा कि मुझे सबसे अच्छा तब लगता है जब मुझे लोग हरियाणे का लाल बोलते हैं। हरियाणा मेरी जन्मभूमि है। जन्मभूमि का कर्ज आदमी सात जन्मों तक नहीं चुका सकता। साथ ही उन्होंने कहा, “आज मुझे खुशी है कि मैं अपनी जन्मभूमि में रैली कर रहा हूं। मुझे बताया गया कि यहां कल तूफान आया था, ये शुभ संकेत है। बता रहे हैं कि तूफान पंजाब से आया था। यह तूफान दिल्ली से आया था। तो हरियाणा में और बड़ा तूफान आने वाला है।”

यह भी पढ़े…कर लें तैयारी! जून में लॉन्च होंगे ये स्मार्टफोन, इससे पहले जान लें इनके बारे में थोड़ी जानकारी

सीएम केजरीवाल ने कहा कि तूफान से घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि जब ऊपर वाला अपनी झाड़ू चलाता है तो तूफान ही आता है। ऊपर वाले ने अपनी झाड़ू चलानी शुरू कर दी है। उन्होंने लोगों से कहा कि अगर आप अपने बच्चों को इंजीनियर, डॉक्टर और वकील बनाना चाहते हो तो AAP के साथ आ जाओ। अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया ट्रंप के साथ भारत आए तो उनकी पत्नी ने मोदी जी से कहा कि मुझे केजरीवाल के स्कूल देखने हैं। कोई खट्टर सरकार के स्कूल देखने आया क्या?

यह भी पढ़े…भोपाल: जामा मस्जिद के सर्वे को लेकर संत समाज उतरेगा सड़क पर

सीएम केजरीवाल ने लोगों से पूछा कि पिछले 7 सालों में आपको कितनी नौकरियां मिलीं? उन्होंने कहा कि दिल्ली में मैंने लोगों को लाखों नौकरियां दी। केजरीवाल ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, “इनसे नये स्कूल नहीं बनते, इनसे नौकरियां नहीं निकलती और न ही इनसे अस्पताल बनते हैं।” खट्टर साहब ने हरियाणा में कितनी नौकरियां दी? ये नौकरी नहीं देंगे। ये आपके बच्चों को गुंडई और दंगा करना सिखाएंगे और अपने बच्चों को पढ़ने विदेश भेजेंगे।