Delhi Pollution : दिल्ली में बढ़ता प्रदूषण बना चिंता का विषय, 240 पहुंचा AQI

राजधानी दिल्ली (Delhi Pollution) में सितंबर का महीना आते ही मौसम में बदलाव देखने को मिलने लगा है। बता दें कि हर साल सितंबर के

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट | राजधानी दिल्ली (Delhi Pollution) में सितंबर का महीना आते ही मौसम में बदलाव देखने को मिलने लगा है। बता दें कि हर साल सितंबर के मध्य से आसमानों में धुंध छाने लगती है। जिसके कारण लोगों को आसपास की या सामने की चीजें दिखाई नहीं देती। धुंध इतना ज्यादा रहता है कि सड़क दुर्घटना का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन दिल्ली में हवा का स्तर अभी से ही खराब होने लगा है। जिसके कारण राजधानी में स्मोग का कहर बढ़ने लगा है। बता दें कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने भारी चिंता जताते हुए आंकड़ों को गंभीर बताया है। बुधवार को हवा का स्तर 240 मापा गया है जबकि 2 दिन पहले हवा का स्तर 418 दर्ज किया गया था। वहीं आने वाले दिनों में हवा का यह स्तर और अधिक बढ़ सकता है। ऐसे में यह सरकार के लिए एक बहुत बड़ी चिंता का विषय है।

यह भी पढ़ें – रिलीज से पहले Thank God को बैन करने की उठी मांग, जगह-जगह हो रहा है विरोध

बता दें कि इसका मुख्य कारण प्रदूषण है दिल्ली में प्रदूषण से हर साल सितंबर से यह समस्या शुरू हो जाती है। बता दें कि हरियाणा, राजस्थान, समेत पंजाब में पराली जलाने से दिल्ली की हवा प्रदूषित हो जाती है। जिससे पूरी दिल्ली इसकी चपेट में आ जाती है। स्मोग की प्रॉब्लम से ज्यादातर लोगों की सेहत पर इसका बुरा असर पड़ता है। बता दें कि इस जहरीली हवा से अस्थमा, दिल से जुड़ी बीमारियों समेत सांस लेने में दिक्कत जैसी बीमारियां हो रही है। प्रदूषण का बढ़ता स्तर लोगों के लिए भारी चिंता का विषय बन गया है। दरअसल, यह हवाएं श्वास नली के माध्यम से फेफड़ों में प्रवेश करती है। जिसके कारण फेफड़े का संक्रमण सांस की नली में सूजन जैसी समस्याएं सामने आ रही है। जिससे देश के ज्यादातर शहर जूझ रहे हैं।

यह भी पढ़ें – Indian Railways Update : 260 ट्रेन आज रहेंगी रद्द, IRCTC ने जारी की लिस्ट, शेड्यूल देखकर निकलें

जहरीली हवा का पहला लक्षण सुबह शाम फांसी आना होता है। जिसके बाद सर्दी के मौसम में साथ ही पूरे साल भर खांसी होना। इसका प्रमुख लक्षण है इसके साथ ही शरीर का कमजोर होना, भूख कम लगना और उसके साथी हड्डियों का कमजोर होना इसका मुख्य लक्षण है स्मोग से बालों पर भी गहरा असर पड़ता है। जिससे आपके बाल झड़ जाते हैं दिल की बीमारी हार्ट अटैक, त्वचा संबंधी समस्या, ब्लड कैंसर, फेंफड़ों में इन्फेक्शन यूनिटी सिस्टम समेत आंखों में जलन, नाक, कान और गले में भी इंफेक्शन हो सकता है।

यह भी पढ़ें – जानिए कॉमेडियन Raju Srivastava का बचपन और उनके जीवन से जुड़ी ये दिलचस्प बातें

बता दें कि स्मोग के कारण पुरी शहर में कुहासा जैसी स्थिति बन जाती है। जिससे आमने-सामने तक का नजारा देखने को नहीं मिलता। जिससे एक्सीडेंट जैसी समस्याएं भी उत्पन्न हो जाती है।

यह भी पढ़ें – Gold Silver Rate : सोना लुढ़का, चांदी भी कमजोर, देखें आज का रेट