एक दिन कराची भारत का हिस्सा होगा, देवेंद्र फडणवीस के इस बयान से मचा बवाल

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बीजेपी नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने कहा है कि एक दिन कराची (Karachi) भारत (India) का हिस्सा होगा। ये टिप्पणी मुंबई की एक सालों पुरानी मिठाई की दुकान का बदलने को लेकर उठी मांग के बीच आई है। एक शिवसेना नेता ने कथित तौर पर बांद्रा स्थित कराची स्वीट्स (Karachi Sweets) के नाम से ‘कराची’ शब्द हटाने को कहा है।

दरअसल पिछले हफ्ते शिवसेना के नेता नितिन नंदगांवकर का एक वीडियो वायरल हुआ था। इस वीडियो में वो कराची स्वीट्स के मालिक से दुकान का नाम बदलने के लिये कह रहे हैं। इस वीडियो में वो कहते दिखाई दिखते है “आपको ऐसे करना होगा, हम आपको समय दे रहे हैं। कराची को बदलकर कोई मराठी शब्द रखो।” हालांकि बाद में शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा कि कराची बेकरी और कराची मिठाई के नाम बदलने की मांग उनकी पार्टी का स्टेंड नहीं है। उन्होने ट्वीट कर कहा कि “कराची बेकरी और कराची मिठाई पिछले 60 वर्षों से मुंबई में हैं। उनका पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है। अब उनका नाम बदलने का कोई मतलब नहीं है। उनका नाम बदलने की मांग शिवसेना का आधिकारिक रुख नहीं है।”

इन सारी चर्चाओं के बीच फडणवीस ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि “हम अखंड भारत में विश्वास रखते हैं। हमारा मानना है कि एक दिन कराची भी भारत का हिस्सा होगा।” इस बयान ने अब राजनीतिक हलकों में उथल पुथल मचा दी है। विपक्ष इसपर तंज करने से नहीं चूक रहा। इसे लेकर संजय राउत ने कहा है कि “आप पहले POK को भारत में ले आइए, जिसे पाकिस्तान ने कब्जा कर रखा है। कराची तो हम बाद में चले जाएंगे।”