डकैत केशव गुर्जर का धौलपुर पुलिस ने किया एनकाउंटर, पैर में लगी गोली

Dholpur News : राजस्थान के धौलपुर जिले में पुलिस ने एक लाख इक्कीस हजार रुपए के इनामी डकैत केशव गुर्जर और पुलिस के बीच धौलपुर के जंगलों में देर रात मुठभेड़ हो गई। और पुलिस की फायरिंग में केशव गुर्जर के पैर में गोली लगी जिसके बाद वह घायल हो गया। गुर्जर को जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। एहतियात एवं सुरक्षा की दृष्टि से जिला अस्पताल में भारी तादाद में पुलिस बल तैनात किया है। एसपी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि जिला अस्पताल में सुरक्षा के माकूल इंतजाम किए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, धौलपुर एसपी धर्मेंद्र सिंह को बीती रात केशव गुर्जर के डांग क्षेत्र में छुपे होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद एसपी खुद टीम के साथ जंगलों में पहुंचे थे। यहां केशव की गैंग के साथ करीब तीन-चार घंटे तक मुठभेड़ चली। भरतपुर आईजी गौरव श्रीवास्तव भी ऑपरेशन की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

डकैत केशव गुर्जर विगत 10 साल से पुलिस के साथ लुका-छुपी का खेल खेल रहा था। डांग क्षेत्र में डकैत केशव गुर्जर को शरण मिल रही थी। चंबल के बीहड़ मध्य प्रदेश सीमा से सटे होने के कारण डकैत गैंग को फरार होने में आसानी रहती थी। उधर, डांग क्षेत्र में ग्रामीणों का भी सहयोग गैंग को मिल जाता था। जिस वजह से पुलिस को सफलता नहीं मिल रही थी। लेकिन इस बार राजस्थान पुलिस ने उसे दबोच लिया।

उन्होंने बताया कि सोन बाबा जंगल के आश्रम के पास पुलिस की संयुक्त टीम ने घेराबंदी की। इस दौरान डकैतों की गैंग ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोली का जवाब गोली से दिया। इस दौरान डकैत केशव गुर्जर के पैर में गोली लगने से वह जख्मी हो गया। जिससे उसे पकड़ लिया गया, जबकि गैंग के तीन बदमाश जंगल में भाग गए। जिनकी पुलिस टीम तलाश कर रही है।

एसपी ने बताया कि डकैत केशव गुर्जर विगत 10 साल से राजस्थान, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में वारदातों को अंजाम दे रहा था। जिसके खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, नकवजनी, रंगदारी जैसे करीब चार दर्जन संगीन धाराओं में आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं। डकैत केशव गुर्जर राजस्थान के टॉप टेन अपराधियों में शुमार रहा है।बताया जा रहा है कि अभी केशव गुर्जर धौलपुर के कुदिन्ना गांव का ही रहने वाला है। 10 साल से फरार चल रहा था। मुरैना और राजस्थान पुलिस ने मिलाकर इस पर 1.20 लाख रुपए का इनाम घोषित कर रखा है। उस पर 40 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। केशव की गैंग राजस्थान, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश वारदातें करती है। गैंग में दो दर्जन के लगभग सदस्य बताए जाते हैं। इसका मूवमेंट राजस्थान में अधिक रहता है।

नितेंद्र शर्मा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News