लापरवाही पर DM का बड़ा एक्शन- 358 कर्मचारियों का वेतन रोका, नोटिस जारी कर मांगा जवाब

डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आगामी आदेश तक सभी का वेतन रोकने का आदेश दिया है और कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है।

Gorakhpur DM Vijay Kiran Anand

गोरखपुर,डेस्क रिपोर्ट। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर जिले (Gorakhpur District) में लापरवाहों पर बड़ी कार्रवाई की गई है। गोरखपुर डीएम विजय किरन आनंद  (Gorakhpur DM Vijay Kiran Anand) ने 136 गांवों के 358 कर्मचारी के अनुपस्थित पाए जाने पर वेतन रोकने के निर्देश दिए है। वही नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।इनमें शिक्षा, पंचायत, आंगनबाड़ी समेत विभिन्न विभागों के कर्मचारी शामिल है।

यह भी पढ़े.. शिवराज सरकार की बड़ी तैयारी, कलेक्टरों को मिले निर्देश, इन जिलों को होगा लाभ, ऐसा रहेगा कार्यक्रम

दरअसल, डीएम विजय किरन आनंद ने ग्राम स्तरीय कर्मचारियों एवं परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों की उपस्थिति जांचने के लिए औचक निरीक्षण करवाया था। इसके लिए जिला एवं ब्लॉक स्तरीय के 75 अधिकारी औचक निरीक्षण पर निकले और 136 गांवों के शिक्षा, पंचायत, आंगनबाड़ी समेत विभिन्न विभागों का निरीक्षण किया, जिसमें करीब 358 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए हैं।

इनमें परिषदीय विद्यालयों के 13 प्रधानाध्यापक, 91 सहायक अध्यापक, 44 शिक्षामित्र एवं अनुदेशक, 38 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, 36 सहायिका, 18 ग्राम पंचायत सचिव, 22 लेखपाल, 20 ग्राम रोजगार सेवक, 17 ANM, 14 सफाई कर्मचारी एवं 45 प्राविधिक सहायक कृषि शामिल है। डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आगामी आदेश तक सभी का वेतन रोकने का आदेश दिया है और कारण बताओ नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है।

यह भी पढ़े.. शिक्षक को बड़ी राहत, जबलपुर हाईकोर्ट ने निरस्त किया कमिश्नर का दंड, ये है पूरा मामला

वही डीएम ने साफ कहा कि समय से स्कूल, कार्यालय नहीं पहुंचने वाले शिक्षकों, अधिकारियों, कर्मचारियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हैरानी की बात तो ये है कि हाल ही में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभी सरकारी कर्मचारियों अधिकारियों को चेतावनी जारी की थी कि समय से दफ्तर, स्कूल नहीं पहुंचने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों और शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। लंच ब्रेक 30 मिनट से ज्यादा का ना हो।