PUBG की लत के चलते बेटे ने रेता बाप का गला, पिता ने मोबाइल देने से किया था इंकार

पबजी (PUBG) खेलने के लिए मोबाइल नहीं देने से नाराज बेटे ने अपने पिता का गला रेतने के बाद खुद की गर्दन पर भी चाकू मार लिया। दोनों को घायल हालत में मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। दोनों की हालत नाजुक बताई जा रही है।

government-will-ban-on-'Pabji'-game-in-Madhya-pradesh-

मेरठ, डेस्क रिपोर्ट। उत्तरप्रदेश के मेरठ (meerut) जिले के खरखौदा गांव में एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है, जिसमें एक बेटे ने अपने पिता का गला रेत दिया। रिश्तों के शर्मसार करने वाला ये मामला खरखौदा थाना क्षेत्र के लोहिया नगर का है, जहां 25 साल के आमिर ने सिर्फ इसलिए अपने पिता का गला छुरे से रेत दिया क्योंकि उसने अपने पिता से पबजी (PUBG) खेलने के लिए मोबाइल (mobile) मांग था, जिसे देने से उसके पिता ने मना कर दिया था।

पिता के मना करने के बाद आमिर आग बबूला हो गया और उसके सिर पर खून सवार हो गया। वहीं पिता के गले को रेतने के बाद आमिर ने भी खुद की गर्दन पर भी चाकू मार लिया। मामले की जानकारी लगते ही इलाके में सनसनी फैल गई, वहीं दोनों घालयों को आनन-फानन में मेडिकल कॉलेज (medical) में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। बताया जा रहा है कि अभी दोनों की ही हालत गंभीर बनी हुई है और वे जिंदगी और मौत से जंग लड़ रहे है। मामले की जानकारी लगते ही पुलिस जांच में जुट गई है।

दरअसल, मामला खरखौदा क्षेत्र के लोहिया नगर के एवन कॉलोनी का है, जहां आमिर नाम के युवक जो कि मोबाइल पर गेम खेलने का आदि है, उसने अपने पिता इरफान से पबजी खेलने के लिए मोबाइल मांगा था। इरफान ने आमिर को फोन देने से इंकार कर दिया। पिता के इंकार से गुस्सा होकर आमिर कमरे में गया और चाकू लेकर आया और पिता पर छुरे से वार कर दिया।

आमिर ने पिता के गले और पैर पर ताबड़तोड़ वार किए। इसके बाद आमिर ने खुद की गर्दन पर भी छुरा मार लिया। मौके पर पहुंचे परिजनों ने पिता-बेटे को लहूलुहान देख चीख-पुकार लगाई और उसको सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने तुरंत ही दोनों को एमसीसी हॉस्पिटल ले गए, जहां से उनकी हालत देख कर उन्हें मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। बता दें कि आमिर की गेम खेलने की लत के चलते लोग उसे मानसिक रोगी भी कहते है।

बता दें कि 13 अक्टूबर को मेरठ जिले के पल्लवपुरम क्षेत्र में एक 11 साल की बच्चे का अपनी बहन के साथ मोबाइल गेम को लेकर विवाद हो गया था, जिससे नाराज होकर 11 साल के बच्चे ने फांसी लगा ली थी। फिलहाल बच्चा खतरे से बाहर है।