IRCTC के साथ लीजिये नार्थ ईस्ट के राज्यों के टूर का आनंद, इस दिन जाएगी भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन

IRCTC North East Tour : आईआरसीटीसी यानि इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन लिमिटेड ने नार्थ ईस्ट में मौजूद शानदार और ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों के टूर का शेड्यूल अनाउंस किया है। 15 दिन के इस टूर में पर्यटकों को देश का इतिहास दर्शाती और धार्मिक आस्था वाली जगहों को देखने का मौका मिलेगा, ये ऐसे स्थान हैं जिन्हें देखने की इच्छा हर भारतवासी के मन में होती है।

IRCTC North East Discovery : Beyond Guwahati Tour 

आईआरसीटीसी ने भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन के साथ नार्थ ईस्ट राज्यों में बसे देश के खूबसूरत और ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों की सैर का नया टूर अनाउंस किया है, इस टूर को IRCTC North East Discovery : Beyond Guwahati नाम दिया गया है। ये टूर 14 रात 15 दिन का होगा जिसमें करीब 10 शानदार डेस्टिनेशन कवर होंगे।

पूर्वोत्तर के पांच राज्यों की सैर का मौका 

इस टूर में पर्यटक असम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, त्रिपुरा और मेघालय राज्यों में स्थित अगरतला, चेरापूंजी, दीमापुर, गुवाहाटी, जोरहट टाउन, कांजीरंगा, कोहिमा, शिलोंग और उनाकोटी जैसे डेस्टिनेशन देखने को मिलेंगे। भारत गौरव डीलक्स AC टूरिस्ट ट्रेन के यात्रियों को लेकर दिल्ली रेलवे स्टेशन से 21 मार्च को रवाना होगी।

इतना देना होगा प्रति व्यक्ति किराया 

IRCTC ने इस टूर का किराया 1,04,390/- रुपये प्रति व्यक्ति (तीन वयस्क व्यक्ति) निर्धारित किया गया है इस किराये में यात्री 2AC क्लास में यात्रा करेगा, यदि यात्रियों की संख्या दो है तो प्रति व्यक्ति किराया 1,06,990/- रुपये प्रति व्यक्ति होगा और यदि व्यक्ति अकेला है तो उसे 1,25,090/- किराया देना होगा।

AC केबिन और AC कूपे में भी यात्रा की सुविधा 

ट्रेन के 1AC केबिन में यात्रा करने के लिए अकेले व्यक्ति को 1,50,100/- रुपये देना होंगे, दो व्यक्तियों को प्रति व्यक्ति 1,31,990/- खर्च करने होंगे वहीँ यदि यात्रा में तीन व्यक्ति जा रहे हैं तो उन्हें 1,29,400/- रुपये प्रति व्यक्ति का टिकट लेना होगा। IRCTC ने 1AC कूपे में तिन व्यक्तियों के लिए एक अलग व्यवस्था की है जो भी कूपे की बुकिंग कराना चाहता है उसे प्रति व्यक्ति 1,49,290/- के हिसाब से टिकट लेना होगा। 1AC केबिन और 2AC में बच्चों का अलग से टिकट लेना होगा।

 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News