G20 Summit: महासम्मेलन को लेकर पूरे देश में दिखा उत्साह, सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने की विपक्षी नेताओं से चर्चा, जानें जरूरी बातें

G20 Summit:भारत को पहली बार जी20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता मिली है। जिसके लिए पहली शेरपा बैठक का आयोजन राजस्थान के उदय पुर में किया गया है। इस दौरान कई राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल हुए। पीएम नरेंद्र मोदी ने लोगों से सहयोग की मांग भी की। इस मीटिंग में विदेशी डेलीगेट्स भी शामिल हुए। अगले साल भारत की अध्यक्षता में इस  महासम्मेलन का आयोजन होगा। 200 से अधिक बैठक का आयोजन 55 स्थानों पर होगा। भारत को इस सम्मेलन की अध्यक्षता मिलने पर पूरे देश में अलग ही उत्साह देखा जा रहा है। आइए जानें इससे जुड़ी कुछ जरूरी बातें।

4 दिनों तक चलेगा शेरपा सम्मेलन

उदयपूर में जी20 शेरपा सम्मेलन की शुरुआत हो चुकी है, जो 4 दिनों तक चलेगा। इस दौरान कई ग्लोबल मुद्दों पर चर्चा होगी। साथ ही जरूरी वैश्विक मुद्दों पर आपसी बातचीत के आधार पर एक प्लेटफॉर्म भी तैयार किया जाएगा। बता दें की G20 ग्रुप दुनिया की प्रमुख विकसित और विकासशील इकनॉमिक का एक अंतर-सरकारी प्लेटफॉर्म है। जिसका हिस्सा ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, चीन, फ्रांस, भारत, इंडोनेशिया, इटली, कोरिया गणराज्य, दक्षिण अफ्रीका, कनाडा, जर्मनी, रूस, सऊदी अरब, तुर्की, अमेरिका, यूरोपीय संघ और अर्जेन्टीना होते हैं।

विपक्षी नेताओं के साथ पीएम मोदी ने की बातचीत

शेरपा सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी पार्टियों से सहयोग की मांग की। इस दौरान ममता बनर्जी और अरविन्द केजरीवाल के अलावा कई विपक्षी नेता शामिल हुए और अपना सुझाव साझा किया। तृणमूल कॉंग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि जी20 सम्मेलन एक पार्टी का एजेंडा नहीं, बल्कि पूरे देश की बात है।

पीएम मोदी कही ये बात

बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा की यह शिखर सम्मेलन ऐसा आयोजन है, जिस पर पूरे देश को गर्व होना चाहिए। साथ ही उन्होनें यह भी कहा की इस सम्मेलन को सफल बनाने के सभी को योगदान करना चाहिए। पीएम को मल्लिकार्जुन खरगे, अरविन्द केजरीवाल, तमिलनाडु के सीएम एमके स्टालिन, एकनाथ शिंदे के साथ बातचीत करते हुए देखा गया।

देश के 100 एतेहासिक इमारत जगमगाएं

भारत को जी20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता मिलन गर्व और खुशी की बात है, जिसका असर पूरे देश में देखा जा सकता है। इसी बीच देश के 100 एतेहासिक इमारत इसके लोगो से जगमगा उठे। लाल किला, हम्पी कुतुब मीनार, पुराना किला, हुमायूँ टॉम्ब, फतेहपुर सीकरी, कश्मीर का शंकराचार्य मंदिर, चारमीनार और ताजमहल समेत अन्य कई एतेहासिक धरोहरों पर आकर्षक नजारा देखा गया।