जीडीए की आम जनता को चेतावनी, अवैध बिल्डिंग में ना खरीदें कोई प्रॉपर्टी

गाजियाबाद, डेस्क रिपोर्ट। इन दिनों अक्सर देखा जा रहा है की कई लोग लगातार प्रॉपर्टी से जुड़े फ्रॉड का शिकार हो रहे हैं। कभी या तो बिल्डर पैसे लेकर फरार हो जाता है या कभी जिस जमीन पर वह बिल्डिंग बनाता है वह गैरकानूनी होती है। ऐसे में आखिरकार नुकसान मासूम जनता का ही होता है।

अब किसी भी इंसान को इस तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े इसलिए गाजियाबाद डेवलपमेंट अथॉरिटी (GDA) ने एक नोटिस जारी कर जनता को अलर्ट किया है। इन दिनों गाजियाबाद जिले में धड़ल्ले से अवैध फ्लैटों की खरीदी और विक्रय चल रहा है। ऐसे फ्लैट बनाने वाले बिल्डरों के पास ना तो वैध कागजात होते हैं और ना ही परमीशन। यह लोग बहला-फुसलाकर मासूम जनता को खुदका घर होने का सपना दिखाते हैं और लोग भी अपने जीवन भर की खून पसीने की कमाई लगाकर इन अवैध इमारतों में फ्लैट खरीद लेते हैं। इन्हीं सब कारणों से जीडीए ने नोटिस जारी किया है और जनता से अपील की है की अवैध बिल्डिंगों में फ्लैट ना खरीदें क्योंकि जीडीए जल्द ही इन सभी बिल्डिंग को चिन्हित कर सील करने का प्लान बना रहा है।

ये भी पढ़ें – Share Market : गिरावट के साथ खुला बाजार, Sensex और Nifty दोनों लुढ़के

आपको बता दें इस समय गाजियाबाद विकास प्राधिकरण में काफी शिकायतें दर्ज हो रही है जिनमें भू माफियाओं द्वारा फ्लैट बनाकर लोगों को फसाने की बात कही जा रही है। इन सभी शिकायतों को गंभीरता पूर्वक लेकर जीडीए ने नोटिस में उन सभी भूखंडों की संख्या को अंकित किया है जो अवैध है और लोगों से उन भूखंडों में बने फ्लैट न खरीदने की अपील की है।

ये भी पढ़ें – 2023 में कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस के चुनाव लड़ने पर क्या बोले गृह मंत्री, देखें वीडियो

हाल ही में गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (GDA) द्वारा तत्परता के साथ कार्रवाई करते हुए कई अवैध बिल्डिंगों को और कई अवैध कॉलोनियों को सील किया गया है। इतना ही नहीं लोगों के खून पसीने की कमाई को धोखे से लेने वाले भू माफियाओं के खिलाफ f.i.r. तक दर्ज कराई जा रही है। सख्ती से कार्रवाई करते हुए जीडीए जल्द ही अवैध बनी सभी बिल्डिंगों को ध्वस्त करेगा, जिसमें परेशानी की बात यह है कि जिन लोगों ने यहां फ्लैट खरीदे हैं उन सभी के पैसे बर्बाद होने वाले हैं।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : चांदी में कीमतों में बड़ी गिरावट, सोना पुरानी कीमत पर

अब देखना यह होगा कि जीडीए की इस कार्रवाई का भू माफियाओं पर क्या असर होता है और क्या वाकई में इस प्रकार की कार्यवाही से आमजन का पैसा गाजियाबाद विकास प्राधिकरण पानी में डूबने से बचा पाएगा।