किसानों को तोहफा, सरकार ने 14 फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाया

2579

नई दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra MOdi) की अध्यक्षता में सोमवार को केंद्रीय मंत्रीमंडल (Modi Cabinet) की बैठक हुई| कैबिनेट के फैसलों की जानकारी सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने मीडिया से शेयर की| उन्होंने बताया कि कैबिनेट की बैठक में किसानों और MSME के लिए बड़े फैसले लिए गए हैं| आत्मनिर्भर भारत के लिए रोडमैप तैयार किया गया है|

MSME सेक्टर की हालत सुधारने के लिए 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी मिली| वहीं, खरीफ की 14 फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने की मंजूरी दी गई है। सरकार का कहना है कि किसानों को एमएसपी के जरिए उनके लागत मूल्य से 50-83% ज्यादा मूल्य मिलेगा। कैबिनेट ने धान की एमएसपी 1,868 रुपये, ज्वार की 2,620 रुपये, बाजरा की 2,150 रुपये प्रति क्विंटल तय की है। साथ ही मक्का की एमएसपी में 53 फीसद, मूंगफली में 50 फीसद, सूरजमुखी में 50 फीसद, सोयाबीन में 50 फीसद और कपास में 50 फीसद की वृद्धि हुई है।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि 360 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद हो चुकी है। धान की 95 लाख मीट्रिक टन खरीद हो चुकी है। साथ ही 16.07 लाख मीट्रिक टन दालों ओर तिलहन की खरीद हो चुकी है। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि ब्याज छूट योजना के तहत 31अगस्त तक जो किसान अपनी ऋण अदायगी करेगा, उसको 4% ब्याज पर ही कर्जा मिलेगा|

सूचना एवं प्रसारण मंत्री जावड़ेकर ने बताया, “रेहड़-पटरी वालों के लिए विशेष ऋण की व्यवस्था की गई है| शहरी, ग्रामीण रेहड़ी पटरी वालों के लिए 10 हजार रुपये तक का लोन दिया जाएगा| 50 लाख से ज्यादा रेहड़ी-पटरी वालों को लाभ मिलेगा. MSME की परिभाषा में बदलाव किया गया है. MSME सेक्टर के लिए 20 करोड़ का प्रावधान किया गया है.” सरकार 10 हजार करोड़ के शुरुआती योगदान से 50,000 करोड़ रुपए का फंड ऑफ फंड बनाएगी. तेजी से बढ़ती msme, बेहतर परफॉर्मेंस करने वाली msme को इस फंड के जरिये आर्थिक मदद दी जाएगी|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here