कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, सेवानिवृत्ति आयु में 2 वर्ष की वृद्धि संभव, 58 से बढ़ाकर होगी 60 वर्ष, मिलेगा लाभ, कर्मचारियों का विरोध

कर्मचारियों के सेवानिवृत्ति आयु पर एक बार फिर से कर्मचारी उग्र हो गए हैं। कर्मचारियों की मांग है कि सेवानिवृत्ति आयु को 58 वर्ष से बढ़ाकर 60 वर्ष किया जाए। इसके साथ ही चार अन्य प्रमुख मांगे भी रखी गई है।

Employees Retirement Age : देशभर में एक तरफ जहां कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु की मांग तेज हो गई है। वही सेवानिवृत्ति आयु कम करने के विरोध में सरकारी कर्मचारी उग्र हो गए हैं। उनकी मांग है कि जल्द से जल्द सेवानिवृत्ति आयु में 2 वर्ष की बढ़ोतरी की जाए और इसे 58 वर्ष से बढ़ाकर 60 वर्ष किया जाए।

सेवानिवृत्ति आयु को 2 वर्ष के लिए बढ़ाया जाए

दरअसल पंजाब के एडेड कॉलेज में सेवानिवृत्ति आयु कम करने के विरोध में अब सरकारी कॉलेज टीचर एसोसिएशन भी उतर आए हैं। वहीं उन्होंने पीसीसीटीयू का समर्थन कर दिया है। सरकारी शिक्षकों की मांग है कि सरकारी और एडेड कॉलेज के कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु को 2 वर्ष के लिए बढ़ाया जाए।

18 जनवरी को होने वाली परीक्षा स्थगित

इस संबंध में सोमवार को कार्य का बहिष्कार करने के साथ ही पंजाब के यूनिवर्सिटी द्वारा 18 जनवरी को होने वाली परीक्षा को भी पोस्टपोन कर दिया गया है। वहीं 18 जनवरी को 50 से 60 विषय के एग्जाम होने थे। इस संबंध में नोटिफिकेशन भी जारी कर दिया गया है।

आयु सीमा में बदलाव की आवश्यकता नहीं- शिक्षक संघ

मामले में सरकारी कॉलेज टीचर एसोसिएशन के प्रधान अमृत सामरा ने कहा कि सरकार को सेवानिवृत्ति आयु की चल रही समस्या का तत्काल समाधान किया जाना चाहिए और सेवानिवृत्ति आयु पूर्व के मुताबिक लागू होनी चाहिए।आयु सीमा में बदलाव करने की आवश्यकता नहीं है। वहीं सरकारी शिक्षक पीसीसीटीयू के साथ है।

कॉपी चेकिंग का बहिष्कार

इसके साथ ही सरकारी कॉलेज टीचर एसोसिएशन का कहना है कि कॉपी चेकिंग का बहिष्कार किया गया है। 18 को कॉपी चेकिंग नहीं की जाएगी और परीक्षा ड्यूटी में भी शिक्षक शामिल नहीं होंगे।साथ ही 18 के पेपर को स्थगित किये जाने पर भी उन्होंने धन्यवाद दिए हैं। परीक्षा स्थगित होने की स्थिति में अब परीक्षा 11 फरवरी को आयोजित की जाएगी।

शिक्षक की मांग

बता दें कि पंजाब सरकार द्वारा सरकारी और एडेड कॉलेज में शिक्षकों की सेवानिवृत्ति आयु को 60 वर्ष से घटाकर 58 वर्ष किया जा रहा है। जिसके बाद लगातार शिक्षकों द्वारा विरोध देखा जा रहा है। वहीं अब इस विरोध में कॉलेज टीचर एसोसिएशन भी शामिल हो गया है। वहीं उन्होंने चार प्रमुख मांगे रखी है।

  • जिनमें से सन 2022-23 में एडेड ओर अनएडेड कॉलेज से जॉइन सेंट्रल पोर्टल पर आने की मांग की गई है।
  • साथ ही एडमिशन करने के फैसले को वापस लिए जाने की मांग की जा रही है।
  • सर्विस रूल में संशोधन करके रिटायरमेंट आयु 60 से घटाकर 58 करने के फैसले को वापस लिए जाने की मांग की गई है।
  • वहीं कॉलेज को मिलने वाली ग्रांट को 95 फीसद बरकरार रखने की भी मांग की गई है। बता दें कि इसे घटाकर 75% कर दिया गया था।