कर्मचारियों को जल्द मिलेगी खुशखबरी, जून में खाते में आएगा इतना पैसा! जानें EPFO पर ताजा अपडेट

कर्मचारियों को ईपीएफ पर 8.1 परसेंट ब्याज मिलेगा और फिर  जून से यह पैसा खातों में ट्रांसफर होना शुरू हो सकता है।

epfo pf rate

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। EPFO News: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) के पीएफ खाताधारकों के लिए गुड न्यूज है। CBT की बैठक में ब्याज दर तय होने के बाद जल्द  खाते में पीएफ पर ब्याज दर का पैसा  ट्रांसफर किया जा सकता है। ईपीएफओ ने आधिकारिक तौर पर तो तारीख का ऐलान नहीं किया है, लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि 30 जून तक कर्मचारियों के खाते में ब्याज का पैसा भेजा जा सकता है।इसका लाभ 6 करोड़ से ज्यादा पीएफ खाता धारकों को मिलेगा।

यह भी पढ़े.. लाखों कर्मचारियों के लिए गुड न्यूज, मिलेगा 34% DA और 4 महीने के एरियर का लाभ, मई में इतनी बढ़कर आएगी सैलरी

दरअसल, बीते महीनों गुवाहटी में  केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव की अध्यक्षता में बैठक हुई थी, जिसमें EPFO के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टी (CBT Meeting ) ने  फिस्कल ईयर 2021-2022 के लिए ब्याज दर 8.1% तय की है, जिसे जल्द मंजूरी के लिए वित्त मंत्रालय को भेजा जा सकता है।  माना जा रहा है कि मई में वित्त मंत्रालय इस ब्याज दर पर मुहर लगा सकता है, जिसके बाद कर्मचारियों को ईपीएफ पर 8.1 परसेंट ब्याज मिलेगा और फिर  जून से यह पैसा खातों में ट्रांसफर होना शुरू हो सकता है। हालांकि इस संबंध में सरकार या EPFO की तरफ से अभी कोई बयान या अधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

सालों बाद सबसे कम दर

गौरतलब है कि 40 साल में यह पहला मौका है जब 6 करोड़ से अधिक खाताधारकों को पीएफ पर इतना कम ब्याज मिलेगा।पिछले फिस्कल ईयर में PF पर 8.5% ब्याज मिल रहा था, जो अब 8.1% हो गई है। इससे पहले 2020-21 EPF दर 8.5 फीसदी (PF Interest Rate), 2018-19 में 8.65 प्रतिशत और 2017-18 में 8.55 प्रतिशत थी। केंद्रीय बोर्ड ने वित्त वर्ष 2021-22 (31 मार्च, 2022 को समाप्त) के लिए ईपीएफ मेंबर के खातों में ईपीएफ जमा पर 8.10 प्रतिशत सालाना ब्याज दर जमा करने की सिफारिश की है, अब केंद्रीय वित्त मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद इसे लागू करने के साथ  इसका आधिकारिक तौर पर सरकारी गजट में नोटिफाई किया जाएगा, जिसके बाद EPFO पीएफ खाता धारकों के खातों में ब्याज दर की राशि ट्रांसफर करेगा।

अब नहीं अटकेगा पीएफ का पैसा

इधर, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने  EPS’95 अंशधारकों को बड़ी राहत देते हुए कभी भी जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की छूट दे दी है, ईपीएफओ ने इसकी डेडलाइन को खत्म कर दिया है, हालांकि जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की तिथि से एक साल के लिए ही वैध रहेगा, इसके बाद पेंशनधारकों को दूसरा जीवन प्रमाण पत्र जमा कराना होगा। इससे अब पेंशनधारकों की पेंशन का पैसा नहीं अटकेगा।पुरानी व्यवस्था के दौरान जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की एक तारीख तय थी, जिसके कारण पीएफ का पैसा अटक जाता था और पेंशन राशि में भी रुकावट होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

2013 से 2019 की ब्याज दर

  • 2018-19 में ब्याज— 8.65 प्रतिशत
  • 2017-18 में ब्याज— 8.65 प्रतिशत
  • 2016-17 में ब्याज— 8.65 प्रतिशत
  • 2015-16 में ब्याज— 8.80 प्रतिशत
  • 2014-15 में ब्याज— 8.75 प्रतिशत
  • 2013-14 में ब्याज— 8.75 प्रतिशत

ऐसे चेक करें अपडेट्स

Umang APP- अपने स्मार्टफोन में प्ले स्टोर के जरिए Umang App को डाउनलोड करें।अपने फोन नंबर को रजिस्टर करें और एप में लॉगिन करें। टॉप लेफ्ट कॉर्नर में दिए गए मेन्यू में जाकर ‘Service Directory’ में जाएं। यहां EPFO विकल्प को सर्च करके क्लिक करें।यहां View Passbook में जाने के बाद अपने UAN नंबर और OTP के जरिए बैलेंस देख लें।

EPFO-EPFO की वेबसाइट पर लॉग इन कर ई-पासबुक पर क्लिक करें। ई-पासबुक पर क्लिक करने पर एक नए पेज  पर आ जाएंगे।जहां आपको अपना यूजर नाम (UAN नंबर), पासवर्ड और कैप्चा भरना होगा और फिर नया पेज खुलेगा और यहां मेंबर आईडी का चुनाव करना होगा।यहां ई-पासबुक पर अपना ईपीएफ बैलेंस मिल जाएगा।