कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, हर साल मिलेगा अब इस भत्ते का लाभ, आदेश जारी, खाते में आएगी इतनी राशि

hp news

Forth Class Employees Uniform Allowance : एक तरफ उत्तराखंड के एक लाख से ज्यादा सरकारी कर्मचारियों-पेंशनरों को महंगाई भत्ता वृद्धि का इंतजार है, वही दूसरी तरफ चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को दिवाली के बाद बड़ा तोहफा मिल गया है। राज्य की पुष्कर धामी सरकार ने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की वर्दी भत्ते की मांग को पूरा कर दिया है, अब कर्मचारियों को हर साल वर्दी भत्ता मिलेगा।

हर साल मिलेगा इस भत्ते का लाभ

उत्तराखंड सरकार ने चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को अब हर साल 2400 रुपए वर्दी भत्ता देने का फैसला किया है। इस संबंध में वित्त विभाग ने आदेश भी जारी कर दिया है, हालांकि इस आदेश में सचिवालय कर्मचारी शामिल नहीं हैं। सचिवालय को छोड़कर बाकी प्रदेश भर के विभागों में काम करने वाले चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा। यह भत्ता जनवरी 2024 से लागू होगा। हालांकि वर्दी भत्ता देने के साथ ही राज्य शासन ने अनिवार्य शर्तों को भी इसमें जोड़ा है, जिसका कर्मचारियों को पालन करना होगा।

इन नियमों-शर्तों का करना होगा पालन

  • उत्तराखण्ड शासन द्वारा जारी शासनादेश के तहत समस्त महिला एवं पुरूष चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों द्वारा वर्दी सिलवाने के पश्चात आहरण- वितरण को इस आशय का प्रमाण दिया जायेगा कि वर्दी सिलवा ली गयी है एवं सुव्यवस्थित अवस्था में है।
  • समस्त महिला एवं पुरूष चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को प्रत्येक कार्य दिवस में वर्दी धारण कर उपस्थित होना अनिवार्य होगा।
  • समस्त महिला एवं पुरूष चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए यह आवश्यक होगा कि वर्दी पर बायीं ओर उनका नाम और पदनाम अंकित होगा एवं वर्दी अनिवार्य रूप से धारण की जायेगी।
  • आदेश के तहत यदि कोई पुरूष एवं महिला चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी वर्दी में कार्यालय में उपस्थित नहीं रहते हैं तो वर्दी हेतु अनुमन्य धनराशि सम्बन्धित कर्मचारी से वसूल करते हुए उसके विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।
  • वर्दी अनुमन्य किये जाने के पश्चात सम्बन्धित कार्यालयाध्यक्ष / जिस अधिकारी के साथ कर्मचारी तैनात है का यह दायित्व होगा कि यह यह सुनिश्चित करें कि प्रत्येक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी वर्दी में ही कार्यालय आये।

कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, हर साल मिलेगा अब इस भत्ते का लाभ, आदेश जारी, खाते में आएगी इतनी राशि


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News