सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, पुरानी पेंशन बहाली पर ताजा अपडेट, सीएम का बड़ा ऐलान

Old Pension Scheme 2022 : गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले राज्य में पुरानी पेंशन योजना ने हलचल तेज कर रखी है। एक तरफ कांग्रेस ने सत्ता में आते ही राजस्थान और छत्तीसगढ़ की तर्ज पर इसे लागू करने का वादा किया है वही दूसरी तरफ AAP संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ा ऐलान कर सियासी हलचल तेज कर दी है।

केजरीवाल ने ऐलान किया है कि सरकारी कर्मचारियों की एक ही मांग थी कि पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए। गुजरात में AAP की सरकार बनते ही पुरानी पेंशन स्कीम जारी कर दी जाएगी। आम आदमी पार्टी ने पंजाब में भी पुरानी पेंशन लागू करने का वादा किया था, पंजाब सरकार ने 18 नवंबर को इस स्कील को लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

उन्होंने कहा- मैं गुजरात के सभी सरकारी कर्मचारियों को गारंटी देता हूं कि गुजरात में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के एक महीने के अंदर पुरानी पेंशन योजना लागू की जाएगी। पुरानी पेंशन योजना का नोटिफिकेशन 31 जनवरी के पहले नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा। हमने पंजाब में पुरानी पेंशन योजना लागू करके दिखाई है।

पुरानी पेंशन के कई फायदे

आपको बता दें OPS के तहत रिटायरमेंट के समय कर्मचारी के वेतन की आधी राशि पेंशन के रूप में दी जाती है, क्योंकि OPS में पेंशन का निर्धारण सरकारी कर्मचारी की आखिरी बेसिक सैलरी और महंगाई दर के आंकड़ों के अनुसार होता है। इसमें में पेंशन के लिए कर्मचारियों के वेतन से कोई पैसा कटने का प्रावधान नहीं है,इसका भुगतान सरकार की ट्रेजरी के माध्यम से होता है। पुरानी पेंशन स्कीम में 20 लाख रुपये तक ग्रेच्युटी, रिटायर्ड कर्मचारी की मृत्यु होने पर उसके परिजनों को पेंशन और जनरल प्रोविडेंट फंड यानी GPF का लाभ मिलता है।वही जब सरकार नया वेतन आयोग (Pay Commission) लागू करती है, तो भी इससे पेंशन में बढ़ोतरी होती है।