कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, पुरानी पेंशन योजना बहाली पर नई अपडेट, कांग्रेस का बड़ा ऐलान

सीएम ने ऐलान किया है कि पुरानी पेंशन 2004 से बंद हुई है, इसे शुरू भी उसी दिन यानी 2004 से ही लाभ दिया जाएगा।

pensioners pension
demo pic

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। आगामी विधानसभा चुनावों से पहले हिमाचल प्रदेश और गुजरात जैसे राज्यों में पुरानी पेंशन योजना को लेकर हलचल तेज हो गई है। एक तरफ जहां राज्य की जयराम ठाकुर ने इस मुद्दे पर मौन साध रखा है, वही विपक्ष इसे मुद्दा बनाकर भुनाने में जुट गया है। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के बाद अब कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी ने ऐलान किया है कि सत्ता में आते ही हिमाचल प्रदेश में पुरानी पेंशन योजना लागू की जाएगी।

यह भी पढ़े..DA के बाद कर्मचारियों को मिलेगी एक और खुशखबरी! सैलरी में आएगा बंपर उछाल, जानें कैसे?

हिमाचल में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि लाखों कर्मचारियों ने अपनी मेहनत से हिमाचल को बनाने में योगदान दिया। पुरानी पेंशन कर्मचारियों व उनके परिवारों का सहारा थी। भाजपा ने पुरानी पेंशन छीनी। हमने कर्मचारियों के हित को प्राथमिकता दी। छत्तीसगढ़ व राजस्थान में पुरानी पेंशन लागू की। हम हिमाचल में भी OPS लागू करेंगे।राजस्थान सीएम अशोक गहलोत और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात में भी  पुरानी पेंशन योजना की बहाली की घोषणा की है।

यह भी पढ़े..MP: भोपाल से होकर जाएगी ये स्पेशल ट्रेन, 8 के रूट में बदलाव, 8 में लगेंगे अतिरिक्त कोच, कई ट्रेनें रद्द, देखें लिस्ट

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि जहां-जहां भी कांग्रेस की सरकारें बनेंगी वहां वहां हम पुरानी पेंशन बहाल करेंगे ।जो बीजेपी की वाजपेई सरकार ने बंद कर दी थी । राजस्थान और छत्तीसगढ़ में हम यह लागू कर चुके हैं ।खास बात ये है कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में भी पुरानी पेंशन योजना को शामिल किया है। इसके पहले पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और हिमाचल प्रदेश के प्रभारी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी इसकी घोषणा कर चुके है कि  पुरानी पेंशन 2004 से बंद हुई है, इसे शुरू भी उसी दिन यानी 2004 से ही लाभ दिया जाएगा।

क्या फायदा OPS

  • वर्ष 2003 से पहले वाले कर्मचारियों को सेवाकाल की अवधि और बेसिक के साथ DA को मिलाकर कम से कम 9000 पेंशन मिलता है, जबकि NPS के तहत 2 लाख रुपये तक की जमाराशि पर न्यूनतम 554 रुपये मासिक पेंशन है।
  • इसमें पेंशनर अधिकतम 5000 रुपये, औसतन 2200 से 3000 तक है। हर माह 22 तारीख को बेसिक व DA का 14% हिस्सा NSDL कंपनी के खाते में जाता है। कर्मचारियों का 10% और सरकार की ओर से 14% हिस्सा यानी दोनों शेयर बाजार में निवेश होते हैं।
  • NPS के तहत कर्मचारियों की संख्या 1.10 लाख तो OPS के तहत 80000 है। छठे वेतन आयोग में अब OPS के तहत सेवानिवृत्त कर्मचारी को न्यूनतम 18000 पेंशन देने का प्रविधान है।
  • NPS लागू होने के बाद 700 कर्मचारी सेवानिवृत्त हुए और 600 मासिक पेंशन ले रहे हैं।