शिक्षकों-कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, जल्द मिलेगा प्रमोशन का लाभ, प्रक्रिया शुरू, 12 जनवरी तक मांगा ब्यौरा

इस बार पदोन्नति पुराने तरीके से ही होगी।खास बात ये कि शिक्षकों के पदोन्नति के लिए डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी और रिक्त पदों का ब्यौरा तैयार होने बाद आदेश जारी होंगे।

Employee Teacher Promotion 2023 :  उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के प्राइमरी स्कूलों के शिक्षकों के लिए खुशखबरी है। 7 साल बाद एक बार फिर पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू हो गई है। यूपी शासन से हरी झंडी मिलने के बाद निदेशक बेसिक शिक्षा ने 12 जनवरी तक ब्यौरा मांगा है। रिक्त पदों की रिपोर्ट तैयार होने के बाद पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू होगी। इस बार पदोन्नति पुराने तरीके से ही होगी।खास बात ये कि शिक्षकों के पदोन्नति के लिए डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में कमेटी बनेगी और रिक्त पदों का ब्यौरा तैयार होने बाद आदेश जारी होंगे।

शिक्षकों की गोपनीय आख्या के आधार पर जिला स्तर पर ज्येष्ठता सूची तैयार करके आपत्तियां लीं जाएंगी और ज्येष्ठता सूची के आधार पर पदोन्नति होगी। मानव संपदा पोर्टल पर तय मानकों पर शिक्षकों का मूल्यांकन नहीं किया गया है, ऐसे में मेरिट के मानक नहीं देखे जा सकेंगे।इसमें सबसे अहम ये है कि विभाग द्वारा शुरू की जा रही इस प्रक्रिया में जूनियर हाईस्कूल के प्रधानाध्यापक पद पर पदोन्नति इस बार भी नहीं होगी, क्योंकि मामला अभी हाई कोर्ट में लंबित है। प्राइमरी स्कूलों के प्रधानाध्यापक और जूनियर स्कूलों के सहायक अध्यापकों के पद पर पदोन्नति होनी है।

उत्तराखंड में भी प्रमोशन की प्रक्रिया शुरू

उत्तराखंड के नैनीताल के कुमाऊं विवि के कर्मचारियों-शिक्षकों के लिए खुशखबरी है। जल्द प्राध्यापकों को प्रंमोशन का तोहफा मिलने वाला है। इसके लिए विवि प्रशासन ने फिर से प्राध्यापकों की पदोन्नति की प्रक्रिया शुरू कर दी है । इस संबंध में शनिवार को विवि के प्रशासनिक भवन में प्री स्क्रीनिंग भी की गई।खबर है कि 8 फरवरी को विवि की कार्य परिषद की अहम बैठक होनी है जिसमें पदोन्नति के मामलों पर अंतिम फैसला लिया जाएगा।इससे पहले भी 3 बार प्रक्रिया शुरू हुई लेकिन अंतिम मुहर ना लगने के चलते पूरा मामला फाइलों में उलझकर अधर में ही अटक कर रह गया।

फरवरी में लग सकती है अंतिम मुहर 

शिक्षकों की लगातार बढ़ती मांग के बाद कुलपति प्रो. एनके जोशी की संस्तुति पर कुलसचिव दिनेश चंद्रा की ओर से पदोन्नति प्रक्रिया को शुरू करने की सहमति दे दी है, जिसके बाद इसको लेकर प्रक्रिया फिर से शुरू कर दी गई है।शनिवार को विभिन्न विभागों के संकाय अध्यक्षों ने विवि के प्रशासनिक भवन में पदोन्नति के पात्र उम्मीदवारों के दस्तावेजों की जांच की।इसके तहत असिस्टेंट से एसोसिएट व एसोसिएट से प्रोफेसर के पद पर पदोन्नति होना है। अबतक पदोन्नति के लिए 50 से अधिक पात्र शिक्षकों ने आवेदन किए हैं। विभिन्न चरणों में चल रही प्री- स्क्रीनिंग में प्रमाणपत्र वैध पाए जाने पर अगले चरण की प्रक्रिया शुरू होगी। इसके बाद फरवही में अहम बैठक होगी, जिसमें पदोन्नति पर अंतिम मुहर लगेगी।