सरकार का बड़ा फैसला, सेवानिवृत्त कर्मचारियों की होगी तैनाती, खाते में आएंगे इतने रुपए, मिलेगा लाभ

कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। दरअसल सेवानिवृत्त कर्मचारियों को एक बार फिर से तैनाती दी जाएगी। इसके लिए सरकार द्वारा महत्वपूर्ण फैसला लिया गया है। वहीं उन्हें प्रति महीने 15000 रूपए वेतन का भुगतान किया जाएगा।

Employees News: कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल रिटायर्ड कर्मचारियों को नियुक्ति दी जाएगी। इसके लिए सरकार द्वारा महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। सेवानिवृत्ति कर्मचारियों को 3 महीने के लिए नियुक्ति दी जा रही है। प्रबंधन की ओर से मंगलवार को आदेश जारी कर दिया गया है। जारी आदेश के तहत 65 वर्ष से कम आयु वाले कंप्यूटर का ज्ञान रखने वाले कर्मचारियों को तैनाती दी जाएगी।

3 महीने के लिए होगी तैनाती

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा को देखते हुए उत्तराखंड परिवहन निगम द्वारा यह फैसला किया गया है। अब बस अड्डे पर काउंटर टिकट की व्यवस्था संभालने के लिए रिटायर्ड कर्मचारियों को 3 महीने के लिए तैनात किया जाएगा। इसके लिए मंगलवार को आदेश जारी किए गए हैं। 65 वर्ष से कम आयु वाले लोगों और कंप्यूटर का ज्ञान रखने वाले सेवानिवृत्त कर्मचारियों को तैनाती दी जानी है।

कर्मचारियों को प्रति महीने मिलेंगे 15000 रूपए

वही सेवानिवृत्त कर्मचारियों को प्रति महीने इसके लिए 15000 रूपए प्रति कर्मचारी भुगतान किया जाएगा। परिवहन निगम के महाप्रबंधक दीपक जैन द्वारा आदेश जारी किया गया है। जिसमें कहा गया कि मंडल के सभी प्रबंधक और डिपो के सभी सहायक महाप्रबंधक को निर्देश दिए गए हैं। जिसमें स्पष्ट किया गया है कि ऐसे रिटायरमेंट कर्मचारियों से संपर्क किया जाए जो 3 महीने के लिए कार्य करने के इच्छुक हों और उन्हें नियुक्ति दी जाए।

बता दें कि प्रबंधन के अनुसार निगम में लिपिकों की भारी कमी है। ऐसे में बस स्टॉप खासकर ऋषिकेश और हरिद्वार के आने वाले समय में चार धाम यात्रा में काफी परेशानी हो सकती है। श्रद्धालुओं की बढ़ाये के लिए काउंटर बढ़ाया जा रहे हैं। वही लिपिकों की तैनाती के लिए अब रिटायरमेंट कर्मचारियों को तरजीह दी जा रही है। 3 महीने के लिए चार धाम यात्रा शुरू होने पर सरकार द्वारा तकनीकी ज्ञान रखने वाले कर्मचारियों की तैनाती का निर्णय लिया गया है।

कर्मचारियों को टिकट काउंटर पर बैठना होगा और लिपिक का ज्ञान रखने के साथ ही उन्हें कार्यशाला का तकनीकी ज्ञान भी होना आवश्यक है। बस के तकनीकी जांच के साथ ही कार्यशाला में बस के आगमन और प्रस्थान की पूरी रिकॉर्ड संभालने की व्यवस्था कर्मचारियों की होगी।