उत्तराखंड में भारी बारिश ने मचाई तबाही, बादल फटने से कई क्षेत्रों में बना बर्बादी का मंजर

देहरादून के संतला देवी मंदिर के पास खबड़ावाला में बदल फट गया जिससे बारिश का पानी कई इलाकों में घुस गया वहीं कई क्षेत्रों में मलबा और कीचड़ फैल गया। कई क्षेत्रों में पानी भरने से आमजनो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

देहरादून, डेस्क रिपोर्ट। उत्तराखंड (Uttarakhand) में लगातार बारिश का दौर जारी है। यहां बारिश आफत बनकर बरस रही है। उतराखंड की राजधानी देहरादून के संतला देवी क्षेत्र में मंगलवार रात बादलों ने तबाही मचा दी। यहां बादल फटने (Cloud burst) से भारी बर्बादी का मंजर देखने को मिला। देहरादून के संतला देवी मंदिर के पास खबड़ावाला में बदल फट गया जिससे बारिश का पानी कई इलाकों में घुस गया वहीं कई क्षेत्रों में मलबा और कीचड़ फैल गया जिससे यातायात बाधित होता रहा। इसके अलावा आसपास के इलाकों में भी भारी बारिश हुई। करीब तीन घंटे हुई भारी बारिश के कारण नदी, नाले उफना गए और कई पुल और नाले ढह गए। वहीं, पहाड़ी क्षेत्रों में भूस्खलन के कारण सड़क बार-बार बाधित होते रहे। मंगलवार से राजधानी समेत कई क्षेत्रों में लगातार बारिश का दौर चल रहा था जो देर रात तक जारी रहा। वहीं फिलहाल अभी मौसम में सुधार है।

उत्तराखंड में भारी बारिश ने मचाई तबाही, बादल फटने से कई क्षेत्रों में बना बर्बादी का मंजर

ये भी देखें- जूम मीटिंग में SEX करते हुए कैमरे में कैद हुआ शिक्षक, नजारा देख सबके उड़े होश

जानकारी के मुताबिक संतला देवी क्षेत्र के खाबड़वाला में मंगलवार रात बादल फटने से घरों में कई फुट मलबा और कीचड़ भर गया। मलबे के कारण लोगों को गांव तक पहुंचने में भी खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा। साथ ही रास्ते में भी जगह-जगह मलबा आ गया है। तो कहीं घरों में दो- तीन फुट तक पानी घुस गया। हालांकि इस दौरान आमजनों को कोई नुकसान नहीं हुआ। लगातार बारिश से रिस्पना और बिंदाल नदियां उफान पर आ गई हैं। इससे दोनों नदियों के किनारे सैकड़ों घरों में पानी भर गया। साथ ही कई मकानों को खतरा भी पैदा हो गया।

उत्तराखंड में भारी बारिश ने मचाई तबाही, बादल फटने से कई क्षेत्रों में बना बर्बादी का मंजर

ये भी देखें- Love Jihad: ऋषभ बनकर शौकत एक साल तक करता रहा यौन शोषण, शादी का दबाव डाला तो निकला शादीशुदा और एक बच्चे का बाप

वहीं लगातार बारिश के चलते पिछले 11 दिनों से बंद चमोली में जोशीमठ-मलारी हाईवे तमाम कोशिशों के बावजूद नहीं खुल पाया। मौसम खराब होने के कारण हेलीकाप्टर भी उड़ान नहीं भर पा रहा है। प्रदेशभर में चार दर्जन से अधिक मार्गों पर आवाजाही ठप है। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी है।