केदारनाथ में हेलिकॉप्टर हुआ क्रैश, 2 पायलट समेत 7 लोगों की मौत; पढ़ें पूरी खबर

उत्तराखंड में मंगलवार को एक बड़ा दर्दनाक हादसा हो गया है। देवों की नगरी केदारनाथ सो दो किलोमीटर दूर रुद्रप्रयाग में हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। जिसमें 2 पायलट समेट 7 लोगों की मौत हो गई।

देहरादून, डेस्क रिपोर्ट | उत्तराखंड में मंगलवार को एक बड़ा दर्दनाक हादसा हो गया है। देवों की नगरी केदारनाथ सो दो किलोमीटर दूर रुद्रप्रयाग में हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। जिसमें 2 पायलट समेट 7 लोगों की मौत हो गई। जिसके बाद वहां के लोगों और श्रद्धालुओं में हड़कंप मच गया है। बता दें कि यह निजी प्लेन आर्यन हेली का था जो कि केदारनाथ से श्रद्धालुओं को लेकर फाठा जा रहा था लेकिन कहते हैं ना जब किसी की मृत्यु निश्चित हो तो कोई भी उसे रोक नहीं सकता है। इसी प्रकार भक्तों से भरा यह प्लेन गरुड़चट्टी के पास क्रैश हो गया और हादसे के बाद हेलिकॉप्टर में आग लग गई। जिसमें कुल 9 लोगों ने अपनी जानें गवां दी है।

यह भी पढ़ें – MP में हड़ताल पर उतरे 18 हजार निजी स्कूल, कर रहे हैं ये दो मांग

इस हादसे के बाद राहत व बचाव की टीम मौके पर पहुंच गई है। साथ ही पुलिस और प्रशासन भी घटनास्थल पर पहुंचकर घटना का जायजा ले रही है। साथ ही शवों को अपने कब्जे में लेकर मर्ग कायम कर लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। साथ ही, उनके परिजनों को इसकी सूचना दे दी गई है। फिलहाल, हादसे का कारण खराब मौसम और घना कोहरा बताया जा रहा है। वहीं, घटना स्थल से हादसे की कुछ तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं, जिसमें मलबा, आग समेत स्थानीय लोग वहां मौजूद नजर आ रहे हैं।

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने हादसे पर दुख जताया है। केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि केदारनाथ में हेलिकॉप्टर का दुर्घटनाग्रस्त होना दुर्भाग्यपूर्ण है। हम राज्य सरकार के टच में है और हादसे में नुकसान का आंकलन कर रहे हैं। हम लगातार हालात पर नजर बनाकर रख रहे हैं। पुलिस के साथ-साथ SDRF की टीम मौके पर पहुंची है। वहीं, केदारनाथ के एक पर्यटक ने बताया कि यहां बारिश बहुत तेज हो रही थी। मौसम सिर्फ 15 मिनट में अचानक से खराब हो गया। इसके बाद हमारी उड़ान भी रोक दी गई और हमसे कहा गया कि एक हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया है इसलिए अभी सभी उड़ानें रोक दी गई है। साथ ही, उन्होंने बताया कि उस हेलिकॉप्टर में कई यात्री सवार थे जो घटना के शिकार हुए हैं।

इस घटना पर प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृहमंत्री, मुख्यमंत्री समेत अन्य सभी लोगों ने दूख जताया है। साथ ही घटना को लेकर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन भी दिया है और जांच के आदेश जारी किए गए हैं कि आखिर इस घटना के पीछे मुख्य वजह क्या थी।

यह भी पढ़ें – SBI CBO Recruitment: बैंक में निकली 1422 पदों पर भर्ती, ग्रेजुएट कर सकते हैं आवेदन, जानें आयु-पात्रता