IMD Alert: असम सहित 15 राज्यों में 22 मई तक भारी बारिश-आंधी, 2023 में देरी से होगी मानसून की दस्तक, यहां बढ़ेगा तापमान, जानें दिल्ली-यूपी-बिहार पर पूर्वानुमान

दिल्ली में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। पूर्वी राज्यों में असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम के अलावा मेघालय, नगालैंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम में भारी बारिश का रेड अलर्ट है। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में भी गरज चमक के साथ भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। इस बीच आईएमडी के लंबी दूरी के पूर्वानुमान ने संकेत दिया है कि इस साल मानसून का प्रदर्शन सामान्य रहने की संभावना है। मात्रात्मक रूप से, मौसमी वर्षा 83.5 सेमी हो सकती है।

IMD Alert, Today Weather Update : मौसम बदलने का सिलसिला जारी है। कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। वहीं कुछ राज्य में तापमान में वृद्धि का सिलसिला भी जारी है। बिहार, झारखंड सहित पश्चिम बंगाल के क्षेत्रों में बारिश रिकॉर्ड की गई है। उत्तर प्रदेश के पश्चिमी इलाकों में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इसके साथ ही राजस्थान में धूल भरी आंधी चलने का पूर्वानुमान जताया गया है।

इन राज्यों में बारिश की चेतावनी

दिल्ली में बारिश की चेतावनी जारी की गई है। पूर्वी राज्यों में असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम के अलावा मेघालय, नगालैंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम में भारी बारिश का रेड अलर्ट है। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में भी गरज चमक के साथ भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। इस बीच आईएमडी के लंबी दूरी के पूर्वानुमान ने संकेत दिया है कि इस साल मानसून का प्रदर्शन सामान्य रहने की संभावना है। मात्रात्मक रूप से, मौसमी वर्षा 83.5 सेमी हो सकती है।

इन राज्य में हल्की बारिश की चेतावनी

जम्मू कश्मीर सहित उत्तराखंड, हिमाचल, लद्दाख, केरल और माहे में हल्की बारिश और गरज चमक की स्थिति देखने को मिल सकती है।

आंधी सहित भारी बारिश की चेतावनी

गरज चमक के साथ भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। अंडमान निकोबार दीप समूह में आंधी की चेतावनी जारी की गई है। इसके अलावा उड़ीसा, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल सहित उत्तर प्रदेश उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, पुडुचेरी, और कर्नाटक में बारिश की गतिविधि देखने को मिल सकती है। हालांकि बारिश की रफ्तार ज्यादा नहीं रहेगी। बावजूद इसके मौसम में ठंडक घुलेगी।

इन राज्यों में बढ़ेगा तापमान

मौसम विभाग द्वारा कई राज्य में 40 डिग्री तापमान तक पहुंचने का पूर्वानुमान जताया गया है। जिन राज्यों में से चेतावनी जारी की गई है। उसमें हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़ के अलावा मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु, तेलंगना शामिल है। इन क्षेत्रों के कई इलाकों में तापमान में इजाफा देखा जा सकता है। फिलहाल तीन दिन तक क्षेत्रों के तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। इसके अलावा कोस्टल आंध्र प्रदेश सहित उत्तरी क्षेत्रों में भी तापमान में इजाफा देखा जा सकता है।

मौसम प्रणाली

  • पूरे भारत में एक रेखा के रुकने की संभावना बंगाल की खाड़ी में जताई जा रही है। गीली दक्षिण पश्चिम हवाएं चल सकती है। जिससे पूर्वोत्तर भारत में भारी से बहुत भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।
  • अभी 5 दिन के दौरान क्षेत्र में हल्की से मध्यम बारिश देखी जा सकती हो। पूर्वी प्रदेश में 22 मई तक असम मेघालय मणिपुर में 25 मई तक भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। इसके अलावा असम और मेघालय के कुछ क्षेत्र में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।
  • एक और एक हवा की रुकावट कई दिनों तक रॉयल सीमा के कुछ हिस्से में कभी कबार भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।
  • इसके साथ ही पश्चिमी विक्षोभ उत्तर पाकिस्तान और उससे सटे जम्मू और कश्मीर पर भी चक्रवाती हवा के क्षेत्र के रूप में बना हुआ है।
  • पश्चिमी विक्षोभ मध्य और ऊपरी क्षोभमंडलीय पछुआ हवा के गणित के रूप में देखा जा रहा है।

मानसून पर चेतावनी

मौसम विभाग ने दक्षिण पश्चिम मानसून पर चेतावनी जारी की गई है। 1 जून तक भारत के दक्षिण पश्चिम देशों में पहुंच जाता था। हालांकि इस वर्ष के आगमन में थोड़ी देरी देखने को मिल सकती है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक मानसून की शुरुआत 4 जून को हो सकती है। पिछले 50 वर्षों में मानसून की शुरुआत की तारीख 19 मई तक रही है। इसमें काफी देरी देखी जा सकती है। पूर्ववर्ती सर्दियों में अलनीनो और दक्षिण दोलन की स्थिति को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। इसके अलावा मेडेन जूलियन ऑस्किलेशन के साथ एक उष्णकटिबंधीय लहर 30 से 40 दिन में भूमध्य रेखा के चारों और घूम कर इसे और प्रभावित कर सकती है।

मानसून का प्रदर्शन सामान्य रहने की संभावना

मौसम विभाग के मुताबिक लंबी दूरी के पूर्वानुमान से संकेत दिया। जिसके मुताबिक इस साल मानसून का प्रदर्शन सामान्य रहने की संभावना जताई गई है। मात्रा के रूप में जाने दो मौसमी बारिश 83.5 सेंटीमीटर हो सकती है जो कि मानसून के लिए भारत की लंबी अवधि के औसत मानसूनी बारिश 96% तक होने का पूर्वानुमान जताया गया है।

तापमान वृद्धि का सिलसिला जारी

उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित राजस्थान, गुजरात में तापमान वृद्धि का सिलसिला जारी रहेगा। हालांकि आंधी और हल्की बारिश से मौसम में राह देखी जा सकती है। इसके साथ ही बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा सहित अन्य राज्यों में भी तापमान में बढ़ोतरी का सिलसिला जारी रहने वाला है।

मौसम अपडेट

  • असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है।
  • अरुणाचल प्रदेश में व्यापक बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।
  • असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में व्यापक बारिश और आंधी की उम्मीद है।
  • छिटपुट बौछारें और आंधी गंगीय पश्चिम बंगाल, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, केरल और माहे में आ सकती है।
  • हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और तेलंगाना में कुछ स्थानों पर अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस को पार कर सकता है।
  • तटीय आंध्र प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में लू की स्थिति बनी रह सकती है।
  • हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल, गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तमिलनाडु और तेलंगाना में कुछ स्थानों पर अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस को पार कर सकता है।
  • पूर्वोत्तर भारत में अलग-अलग स्थानों पर सुबह के समय हल्का से मध्यम कोहरा संभव है।
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, ओडिशा, झारखंड, बिहार, पश्चिम उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में गरज के साथ बारिश हो सकती है।