IMD Alert : जल्द होगी मानसून की वापसी, 5 चक्रवाती सिस्टम सक्रिय, 18 राज्यों में 3 अक्टूबर तक भारी बारिश का येलो-ऑरेंज अलर्ट, जानें पूर्वानुमान

देशभर में फिलहाल 5 मौसम प्रणाली है, जिसके कारण कई राज्यों में बारिश का सिलसिला बढ़ गया है। वहीं सितंबर अंत के साथ ही अक्टूबर की शुरुआत में भी बारिश का दौर जारी रहेगा।

IMD

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश में एक साथ कई मौसम प्रणाली (Cyclonic sytem active) एक्टिव मोड में आ गई है। वही प्रणालियों की एक सिस्टम तैयार होते हुए भारतीय तट रेखा पर पहुंच रही है। जिसके साथ 25 सितंबर से व्यापक बारिश का दौर शुरू होगा। वही IMD Alert के मुताबिक एक बार फिर से बंगाल की खाड़ी (BoB) में एक ट्रफ रेखा उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर मौजूद होगी। 26 सितंबर के आसपास के सर्कुलर(circulation) बनने की उम्मीद जताई जा रही है।

मौसम विभाग की मानें तो 27 सितंबर के आसपास और निकट के इलाकों में इसके एक्टिव होने की संभावना बढ़ गई है। जिसके कारण पश्चिम बंगाल उड़ीसा आंध्र प्रदेश सहित झारखंड और बिहार के कुछ जिलों में भारी बारिश देखने को मिलेगी। इसके अलावा मौसम विभाग में आज 20 राज्यों में बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। साथ ही लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।पूर्वोत्तर भारत सहित मध्य भारत के कुछ राज्यों में बौछारों का सिलसिला जारी रहेगा।

दिल्ली का मौसम

राजधानी दिल्ली में एक बार फिर से मौसम बदल गया है। दिल्ली-एनसीआर सहित गुरुग्राम के कई इलाकों में बारिश के कारण सड़क पर जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। स्थिति को देखते हुए गाजियाबाद आगरा फिरोजाबाद मैनपुरी नोएडा इटावा में 24 सितंबर को स्कूल बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं आज फिर से बौछारें का सिलसिला जारी रहेगा।

मौसम विभाग ने अगले कुछ घंटों में दिल्ली के अलावा गाजियाबाद इंदिरापुरम छपरौला नोएडा दादरी ग्रेटर नोएडा गुरुग्राम फरीदाबाद मानेसर सहित अन्य इलाके में मध्यम और हल्की बारिश की चेतावनी जारी की। इसके अलावा तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी।

Read More : पेंशनरों की पेंशन पर बड़ी अपडेट, हाई कोर्ट का अहम फैसला, जल्द भुगतान के आदेश, सचिव के वेतन पर रोक

यूपी में भारी बारिश

उत्तर प्रदेश के कई शहरों में बारिश का दौर जारी रहेगा दरअसल के जिलों में आज भी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। पिछले 48 घंटे से लगातार हो रही बारिश से तबाही मची हुई है। कई जिलों में लगातार हो रही बारिश से कच्चे मकान में दीवार ढहने लगे हैं। आईएमडी ने आज प्रदेश के 30 से अधिक शहरों में बारिश का रेड ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

मध्य प्रदेश में यूपी और बुंदेलखंड के अलावा नोएडा गाजियाबाद मेरठ इटावा अलीगढ़ में आज भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। 48 घंटे से रुक-रुक कर हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त बना हुआ है। वहीं कन्नौज फतेहपुर जालौन चित्रकूट लखनऊ उन्नाव में सुबह से बादल छाए हुए हल्की बूंदाबांदी की संभावना भी जताई गई है। आगरा में ही मौसम खुशनुमा बना हुआ है। कुछ ही देर में बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

बिहार में मानसून चक्रवाती सिस्टम सक्रिय

बिहार में लौटने की राह पर मानसून ने एक बार फिर से अपनी सक्रिय मोड में आ गया है। 27 सितंबर से बिहार में हथिया नक्षत्र शुरू होने जा रहा है। ऐसे में हथिया नक्षत्र में बारिश से बिहार में स्थिति तरबतर होगी। मौसम विभाग की मानें तो अगले 48 घंटे में बिहार में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इसके साथ ही रेड ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। बिहार सीमावर्ती राज्य से होते हुए एक ट्रफ लाइन गुजर रही है।

जिसके साथ ही मध्य भारत ने भी कम दबाव का केंद्र बना हुआ है। इसके तेजी से ऊपर उठने के कारण मानसून की स्थिति मजबूत हो गई है। बिहार के 30 जिलों में आज भारी बारिश का रेड ऑरेंज अलर्ट घोषित किया गया। साथ ही लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। पटना मौसम विज्ञान केंद्र की मानें तो अगले 2 से 3 दिन के दरमियान बिहार में तेज हवा चलने के साथ ही भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। 2 दिन बाद बंगाल की खाड़ी से पश्चिम बंगाल उड़ीसा में कम दबाव के क्षेत्र निर्मित हो रहे हैं। जिससे मौसम गतिविधि में एक बार फिर से बदलाव देखने को मिलेगा।

झारखंड में भारी बारिश

झारखंड के कई इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी रहेगा।झारखंड के गोड्डा पाकुड़ गिरिडीह के कुछ भागों में 2 से 3 घंटे में मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।इसके अलावा रांची और संथाल परगना के कुछ इलाकों में भी गरज चमक के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

एमपी-CG में बारिश

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के अलावा राजस्थान और गुजरात में भी बारिश की स्थिति देखने को मिल रही है। मध्यप्रदेश में तेज बारिश का दौर जारी है पिछले 3 दिन से प्रदेश में झमाझम बारिश से नदी नाले उफान पर आ गए। आज भी कई जिलों में तेज बारिश का अलर्ट जारी कर दिया। दरअसल मध्य क्षेत्र में कम दबाव का क्षेत्र हुआ है। जिसके कारण बारिश की गतिविधियां तेज हुई है।

हालांकि मौसम विभाग ने कहा है कि जल्द ही मानसून की विदाई के साथ ही बारिश में कमी देखी जाएगी। वही जिन जिले में बारिश का अलर्ट जारी किया। उसमें आगर शाजापुर शिवपुर गुना शिवपुरी नीमच मंदसौर धार और खरगोन शामिल है। इसके अलावा राजस्थान में भी बारिश का दौर जारी रहेगा। दरअसल राजस्थान मौसम विभाग की माने तो कुछ इलाकों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। हरियाणा के गुरुग्राम में भारी बारिश है।जलजमाव जैसी स्थिति हो गई है। भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

पर्वतीय राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

उत्तराखंड और हिमाचल के कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। दरअसल राज्य मार्ग भूस्खलन से बंद हो गए हैं इसके अलावा लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। भारी बारिश के कारण मिट्टी का दबाव कटा जा रहा है। ऐसे में मौसम विभाग ने कई जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया है।

राजस्थान के कई जिलों में भारी बारिश

राजस्थानी मानसून की सक्रियता के कारण शुक्रवार को राज्य के कई जिलों में भारी बारिश देखी गई है। वहीं शनिवार को भी बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया। जयपुर अलवर कोटा सीकर चूरू के अलावा अजमेर अलवर भरतपुर भीलवाड़ा बूंदी धौलपुर जयपुर कोटा और सीकर में भी भारी बारिश देखने को मिलेगी।

मौसम प्रणाली

देशभर में फिलहाल 5 मौसम प्रणाली है, जिसके कारण कई राज्यों में बारिश का सिलसिला बढ़ गया है। वहीं सितंबर अंत के साथ ही अक्टूबर की शुरुआत में भी बारिश का दौर जारी रहेगा। बारिश की वजह से एक बार फिर से ठंड के आने की संभावना जाहिर की गई है।

  • इसके अलावा एक ट्रफ रेखा बिहार के तट से होकर गुजर रही है। जिसका मौसम प्रणाली पर दबाव दिख रहा है।
  • वहीं 25 सितंबर के आसपास एक रेखा उत्तर और पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर आ रही है। 26 सितंबर के आसपास के सर्कुलर में बदलने की उम्मीद जताई गई है। 27 सितंबर के आसपास के निकट और अधिक लो प्रेशर में डिवेलप होने के कारण इसके डिप्रेशन तैयार होंगे।
  • 28 सितंबर तक पश्चिम बंगाल उड़ीसा आंध्र सहित झारखंड में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इस क्षेत्र में बारिश का असर दिखेगा।
  • इसके अलावा 29 सितंबर तक यह पश्चिमी प्रशांत सागर से आने वाले एक अन्य मौसम प्रणाली के साथ जुड़ेगा जिसे पूरे दक्षिण पूर्व एशिया की यात्रा करेगा और विशेष प्रणाली के कारण मौसम में जल्दी बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा।
  • उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश पर एक चक्रवाती परिसंचरण (CC) और CC से बंगाल की उत्तर-पश्चिम की खाड़ी तक फैली एक ट्रफ रेखा से पश्चिम उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में अलग-अलग बहुत भारी वर्षा के साथ व्यापक रूप से व्यापक वर्षा होने की संभावना है।
  • इस बीच, मध्य क्षोभमंडल में एक ट्रफ के रूप में एक पश्चिमी विक्षोभ मोटे तौर पर लॉन्ग के साथ चलता है। 68°E अक्षांश के उत्तर में 30 डिग्री N में स्थित है

दक्षिण भारत में बौछारों का सिलसिला

वहीं दक्षिण भारत में भी बूंदाबांदी का दौर जारी रहेगा, गोवा महाराष्ट्र के अलावा केरल कर्नाटक तमिलनाडु आंध्र प्रदेश सहित अन्य हिस्सों में बौछारों का सिलसिला जारी रहेगा। आसमान में बादल घिरे रहेंगे। तापमान में दो से तीन फीसद की गिरावट देखी जाएगी।

इन जिलों में बारिश की सम्भावना

अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, बिहार, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में स्थानीय स्तर पर भारी वर्षा संभव है।
अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, असम और मेघालय, पूर्वी उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़ और दिल्ली, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में गरज के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है।

शनिवार 24 सितंबर को भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। गंगीय पश्चिम बंगाल, पंजाब, पश्चिम मध्य प्रदेश, कोंकण और गोवा, विदर्भ, छत्तीसगढ़ और लक्षद्वीप में गरज के साथ छिटपुट बारिश होने की संभावना है। ओडिशा, झारखंड, पश्चिम राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, गुजरात राज्य, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, कर्नाटक, केरल और माहे में बिजली गिरने की संभावना है।

रविवार 25 सितंबर को भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, उत्तराखंड में बहुत भारी वर्षा के साथ व्यापक रूप से व्यापक वर्षा। अरुणाचल प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में स्थानीय स्तर पर भारी वर्षा संभव है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, हरियाणा, छत्तीसगढ़ और दिल्ली, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में गरज के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है।

असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, पंजाब, पूर्वी राजस्थान, पश्चिम मध्य प्रदेश, कोंकण और गोवा, विदर्भ और छत्तीसगढ़ में गरज के साथ छिटपुट बारिश होने की संभावना है। ओडिशा, पश्चिम राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, गुजरात राज्य, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, कर्नाटक, केरल और माहे में बिजली गिरने की संभावना है।