IMD Alert : 12 राज्यों में बारिश का अलर्ट, गरज-चमक की चेतावनी, पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी तेज, 22 नवंबर से उत्तर भारत में बदलेगा मौसम, जानें पूर्वानुमान

IMD Weather Alert : राजधानी दिल्ली सहित उत्तर प्रदेश और उत्तर भारत के कई राज्यों में तापमान में गिरावट का दौर जारी है। जबकि दक्षिण भारत के राज्यों में बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। इसके साथ ही 20 नवंबर तक तीन सिस्टम सक्रिय होंगे। बंगाल की खाड़ी में एक निम्न दबाव का क्षेत्र निर्मित होगा। जिसके डिप्रेशन में बदलने का अनुमान जताया गया है।

IMD Weather Alert : मौसम में बदलाव का दौर जारी है। दरअसल उत्तर भारत और उसके आसपास के कृषि बेल्ट और राज्यों में एक तरफ जहां तापमान में गिरावट का दौर जारी है। वहीं दक्षिण भारत के राज्यों में भारी बारिश का कहर देखने को मिल रहा है। इधर बुधवार को कोरापुट जिले के सिमिलीगुडा क्षेत्र के तापमान छह दिल से सस्ता गिर गया है। उड़ीसा के सबसे ठंडा स्थान रिकॉर्ड किया गया है। इसके अलावा बिहार में इस साल 14 कोल्ड डे और 42 दिन कोहरा पड़ने के आसार जताए गए हैं।

दिल्ली में मौसम का हाल

मौसम विभाग की माने तो राजधानी दिल्ली में आज न्यूनतम तापमान 12 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जाएगा। दो दिन में इसमें 2 से 3 फ़ीसदी गिरावट होने की संभावना जताई गई है। 19 नवंबर के बाद राजधानी में मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है। आसमान में बादल छाए रहेंगे , तीव्र ठंडी हवाएं चलेंगी।

यूपी में कड़ाके की ठंड

उत्तर प्रदेश में फिलहाल मौसम सामान्य बना हुआ है। हालांकि दो-तीन दिन के भीतर तापमान में गिरावट के साथ ही ठंड बढ़ जाएगी। अगले दो से 3 दिनों के भीतर तापमान में दो से तीन फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जा सकती है। फिलहाल मौसम शुष्क बना रहेगा। हालांकि कुछ क्षेत्रों में कोहरे और धुंध की दस्तक जारी है। हवा की गुणवत्ता भी लगातार खराब देखी जा रही है। जनवरी और फरवरी के महीने पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ने का अनुमान जताया गया है। मौसम विभाग की माने तो अभी ठंड इसलिए नहीं पड़ी क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ लगातार एक्टिव हो रहे हैं। नवंबर के आखिरी हफ्ते से ठंड में वृद्धि देखी जाएगी।

बिहार : इस वर्ष 14 कोल्ड डे

बिहार के कई जिलों में ठंड से कंपन बड़ी शुरू हो गई है। सीजन में पहली बार न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस पहुंचा है। वहीं अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस बना हुआ है। मौसम विभाग की मानें तो औसत रूप से ठंड के प्रभाव के कारण बिहार में इस बार 14 कोल्ड डे और 42 दिन कोहरा पड़ने की आशंका जताई गई है।

दिसंबर के पहले सप्ताह से बिहार में तापमान में भारी गिरावट हुई है। साथ ही ठंडी की वृद्धि देखी जाएगी। समुद्र के मध्य तेल का सती तापमान अपने औसत से नीचे आगामी दिसंबर से फरवरी तक 42 से 85% ला नीना कंडीशन बनने की वजह से बिहार के तापमान में गिरावट देखने को मिलेगी।

राजस्थान में बदला मौसम

राजस्थानी मौसम बदल गया राजस्थान के फतेहपुर में कड़ाके की ठंड की शुरुआत हो चुकी है। लगातार तापमान में छह फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। पश्चिमी विक्षोभ का असर कम होने के साथ ही मौसम में बदलाव का सिलसिला शुरू हो गया है। शेखावटी में पारा में गिरावट का दौर जारी है। मंगलवार को एक ही रात में तापमान 7.5 डिग्री सेल्सियस नीचे गिर गया है।

साथ ही कोहरे की दस्तक शुरू हो गई है, मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो पश्चिमी विक्षोभ की वजह से शेखावटी और उत्तरी राजस्थान में बादलों की वजह से तापमान में बढ़त हो रही थी। हालांकि पश्चिम विक्षोभ के खत्म होते ही अब तापमान में कमी होना शुरू हो गया है। आगामी 2 से 3 दिनों में तापमान में और गिरावट देखी जाएगी। हालांकि 19 नवंबर से एक बार फिर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा।

हिमाचल में बर्फबारी होने से कई सड़कें बंद

हिमाचल में पल-पल मौसम में बदलाव देखे जा रहे प्रदेश में बर्फबारी होने से सबसे ज्यादा सड़कें बंद हो गई है। अगले 7 दिनों तक मौसम विभाग ने लोगों को सतर्क रहने की चेतावनी दी है। । किन्नौर की ऊंची चोटियों पर हिमपात की संभावना जताई गई है। आसमान में बादल छाए रहेंगे। न्यूनतम और अधिकतम तापमान में गिरावट का दौर जारी रहेगा। कुछ क्षेत्रों में धूप की दस्तक भी देखने को मिलेगी। जनजातीय क्षेत्रों में हिमपात के साथ-साथ मनाली और इसके आसपास के क्षेत्रों में हल्की बारिश रिकॉर्ड की गई है।

दक्षिणी राज्य में बारिश

0 मौसम विभाग की माने तो अंडमान निकोबार दीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इसके अलावा केरल तमिलनाडु की 12 अस्थान पर भारी बारिश सहित अन्य स्थानों पर मध्यम और हल्की बारिश की संभावना जताई गई है। दक्षिण अंडमान सागर और आसपास के इलाकों में समुद्र से ऊंची लहरें उठेंगी।

पश्चिमी विक्षोभ के कारण आज ही पश्चिमी हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी और बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। मौसम विभाग ने उच्च पर्वतीय क्षेत्र में कई जगह पर बारिश और बर्फबारी का भी अलर्ट जारी किया है।

इन हिस्सों में बारिश का अलर्ट

  • सुबह-सुबह बेंगलुरु के आसपास और पश्चिमी घाट के दक्षिणी हिस्सों में पहाड़ों की तलहटी में कोहरे की संभावना है।
  • एनसीआर में, उत्तर के मैदानी इलाकों में और बेंगलुरु के आसपास खतरनाक वायु प्रदूषण की आशंका है।
  • तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर बिजली कड़कने के साथ गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।
  • आईएमडी ने एक बुलेटिन में कहा कि एक चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण अंडमान समुद्र और मध्य क्षोभमंडल स्तरों में पड़ोस में स्थित है।
  • 20 नवंबर से तटीय तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है।
  • अधिकांश दक्षिण भारत और महाराष्ट्र में बारिश से मौसम की खराब स्थिति संभव है।
  • अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में छिटपुट बादलों की गर्जना संभव है।

मौसम प्रणाली

  • एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ 18 से 20 नवंबर तक जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद में एक्टिव होगा
  • 19 नवंबर को हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग या बिखरी हुई हल्की से मध्यम बारिश/बर्फबारी संभव है।
  • एक अन्य नए सिस्टम में दक्षिण अंडमान सागर और पड़ोस के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण के कारण बंगाल की दक्षिण पूर्व खाड़ी और उससे सटे उत्तरी अंडमान सागर के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है,
  • इस चक्रवाती परिसंचरण के ऊपरी क्षोभमंडलीय स्तरों तक फैला होने की उम्मीद है। इ
  • इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और अगले 48 घंटों के दौरान धीरे-धीरे दक्षिण बंगाल की खाड़ी के मध्य भागों पर एक दबाव में केंद्रित होने की संभावना जताई गई है।