Income Tax Department: इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने लागू की नई सुविधा, जानें इससे कैसे मिलेगा टैक्सपेयर्स को फायदा

Income Tax Department: आयकर विभाग ने एक नई विशेषता को शामिल किया है। अब करदाता भी अपनी सूचना पुष्टि प्रक्रिया की स्थिति को जांच सकेंगे। दरअसल सीबीडीटी ने इस नए सिस्टम के माध्यम से आशा जताई है कि टैक्सपेयर्स को एआईएस में जानकारी प्रदान करके ट्रांसपेरेंसी में सुधार होगा।

Rishabh Namdev
Published on -

Income Tax Department: देश में इस समय इनकम टैक्स रिटर्न भरने का काम किया जा रहा है। वहीं इसके लिए देश का इनकम टैक्स विभाग नियमित अधिसूचनाएं भी जारी करता है। दरअसल आयकर विभाग ने वार्षिक सूचना बयान (एन्यूअल इनफॉर्मेशन स्टेटमेंट) में एक नई विशेषता को शामिल किया है, जिससे अब करदाता भी अपनी सूचना पुष्टि प्रक्रिया की स्थिति को जांच सकेंगे। वहीं केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज) के बयान के अनुसार, इनकम टैक्स विभाग ने एन्यूअल इनफॉर्मेशन स्टेटमेंट में सूचना पुष्टि प्रक्रिया की स्थिति दिखाने के लिए एक नया प्रणाली शुरू की है।

जानिए क्या है यह नया सिस्टम?

दरअसल कई सूचना स्रोतों से आई वित्तीय आंकड़ों की जानकारी के आधार पर तैयार किया जाने वाला एआईएस नया प्रणाली जोड़ा गया है। यह प्रणाली टैक्सपेयर के वित्तीय लेन-देन की विस्तृत जानकारी प्रदान करती है, जिसमें टैक्स के संबंध में असर होने वाली लेन-देन की फीडबैक शामिल होती है। इस प्रणाली में, टैक्सपेयर को हर लेन-देन पर फीडबैक देने का विकल्प उपलब्ध है, जो उसे जानकारी के स्रोत की सटीकता को जांचने में मदद करता है। इसमें, गलत रिपोर्टिंग के मामलों में, स्रोत से स्वतः पुष्टि के लिए जानकारी को ऑटोमैटिक रूप से सत्यापित किया जाता है।

Continue Reading

About Author
Rishabh Namdev

Rishabh Namdev

मैंने श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय इंदौर से जनसंचार एवं पत्रकारिता में स्नातक की पढ़ाई पूरी की है। मैं पत्रकारिता में आने वाले समय में अच्छे प्रदर्शन और कार्य अनुभव की आशा कर रहा हूं। मैंने अपने जीवन में काम करते हुए देश के निचले स्तर को गहराई से जाना है। जिसके चलते मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता और पत्रकार बनने की इच्छा रखता हूं।