दिवाली के मौके पर पूरी दुनिया में छाई भारत की चमक, कोवैक्सिन को मिली WHO की आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। भारत की स्वदेशी वैक्सीन भारत बायोटेक के कोवैक्सिन को विश्व स्वास्थ्य संगठन  की ओर से बड़ी सफलता मिली है. WHO ने कोवैक्सिन को अपनी इमरजेंसी यूज लिस्टिंग में शामिल कर लिया है, जिसके बाद कोवैक्सीन को WHO की तरफ से इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है।

भारत की अपनी कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सिन को इंटरनेशनल मान्यता मिलने की राह बुधवार को साफ हो गई।  वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (डबलूएचओ) की टेक्निकल एडवाइजरी टीम ने कोवैक्सिन का 18 साल से ऊपर की उम्र वाले लोगों के लिए आपातकालीन उपयोग की मंजूरी की सिफारिश कर दी। अब इस वैक्सीन का इस्तेमाल दुनिया के किसी भी देश में हो सकेगा।

SP और उनकी पत्नी हाथियों के हमलें में गंभीर रूप से घायल..

इससे पहले सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन (सीडीएससीओ) ने कोवैक्सिन की सेल्फ लाइफ 12 महीने तक बढ़ा दी है। यानी अब कोवैक्सिन को उसके निर्माण की तारीख के 12 महीने बाद तक इस्तेमाल किया जा सकेगा। भारत बायोटेक ने बताया कि कोरोना वैक्सीन की सेल्फ लाइफ को लेकर डेटा सीडीएससीओ के पास भेजा गया था, जिसकी जांच के बाद यह मंजूरी मिली।

 

दिवाली के मौके पर पूरी दुनिया में छाई भारत की चमक, कोवैक्सिन को मिली WHO की आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी