IPS Promotion 2022: आईपीएस अफसरों को नए साल का तोहफा, मिलेगा पदोन्नति का लाभ, आदेश जारी

IPS Promotion 2022-23: नए साल से पहले राज्य सरकार ने तीन IPS अधिकारियों को प्रमोशन का तोहफा दिया है।  उत्तराखंड शासन ने तीन आईपीएस अधिकारियों के प्रमोशन पर मुहर लगा दी है। शासन द्वारा मंजूर हुई DPC प्रमोशन का आदेश आगामी 1 जनवरी 2023 से लागू होगा। डीपीसी पाने वाले तीनों ही आईपीएस अधिकारी 1992-93 वर्ष में पहले PPS (प्रांतीय सेवा संवर्ग) में नियुक्त हुए थे, इसके बाद इनमें से दो अधिकारी वर्ष 2008 और एक अफसर 2009 आईपीसी कैडर में तब्दील हुए।

इस संबंध में अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने आदेश जारी किया है। इसके तहत देहरादून के SSP दिलीप सिंह कुंवर और हरिद्वार में तैनात 40वीं PAC वाहिनी के कमांडेंट एसएसपी ददन पाल को डीआईजी पद पर पदोन्नत किया गया है। वहीं रामनगर बैलपड़ाव IRB में तैनात SP सुखविंदर सिंह को एसएसपी रैंक के अधिकारी पर पदोन्नति मिली है।डीपीसी पाने वाले तीनों ही आईपीएस अधिकारी 1992-93 वर्ष में पहले PPS (प्रांतीय सेवा संवर्ग) में नियुक्त हुए थे।

इनमें से दो अधिकारी वर्ष 2008 और एक अफसर 2009 आईपीसी कैडर में तब्दील हुए। आईपीएस दलीप सिंह कुंवर 2009 कैडर के असफर हैं, वो प्रदेश के 6 जिलों में कप्तान रह चुके हैं, उन्होंने 1992 में बतौर PPS (प्रांतीय सेवा संवर्ग) के बतौर पुलिस विभाग में नियुक्ति पाई थी।  वहीं दूसरी तरफ SSP से DIG रैंक पाने वाले ददन पाल 1992 के PPS अफसर हैं और प्रमोशन पाकर 2009 में IPS कैडर में शामिल हुए थे, जबकि SP से एसएसपी रैंक पाने वाले अधिकारी सुखबीर सिंह 2010 आईपीएस कैडर के ऑफिसर हैं।

छत्तीसगढ़ के आईपीएस को भी मिलेगा तोहफा

  • छत्तीसगढ़ कैडर के 4 आईपीएस 2005 बैच में अमरेश मिश्रा, राहुल भगत, धु्रव गुप्ता और शेख आरिफ हूसैन को भी नए साल में तोहफा मिलने वाला है, इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है, जिसे 31 दिसंबर को डीपीसी बैठक में रखा जाएगा। यहां से मंजूरी मिलते ही ये प्रमोट होकर आईजी बन जाएंगे। खबर है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अनुमोदन के बाद कभी भी डीपीसी का आदेश जारी किया जा सकता है।
  • इन चारों में से सिर्फ आरिफ शेख छत्तीसगढ़ में हैं, बाकी 3 सेंट्रल डेपुटेशन पर दिल्ली में पोस्ट्रेड हैं। अमरेश एनआईए में हैं लेकिन इस समय हायर एजुकेशन के लिए यूएस में हैं। राहुल भगत डायरेक्टर सोशल सिक्यूरिटी तो धु्रव गुप्ता आईबी में हैं। आरिफ शेख रायपुर में प्रभारी आईजी हैं। प्रमोशन के बाद वे पूर्णकालिक आईजी बन जाएंगे।उम्मीद है कि राज्य सरकार जनवरी को न्यू ईयर गिफ्ट दे सकती है।