International Human Solidarity Day 2022 : जानिये अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस का महत्व और इतिहास

International Human Solidarity Day 2022 : आज अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस है। आज के दिन दुनियाभर में विविधता में एकता का जश्न मनाया जाता है और इसके महत्व के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है। अलग अलग देश अपने यहां प्रेम,शांति, सौहार्द्र और एकता का संदेश प्रसारित करते हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज के दिन शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि ‘सभी के लिए अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस मुदमंगलमयी सिद्ध हो और हम विश्वबंधुत्व व वसुधैव कुटुम्बकम् के भाव के साथ अपनत्व से अलंकृत एक ऐसा समाज रचें कि जीवन में प्रेम, सौहार्द तथा सद्भाव की अलकनंदा प्रशांत भाव से प्रवाहित होती रहे!’

लोगों के बीच एकजुटता के महत्व के प्रसार, गरीबी पर अंकुश लगाने और विकासशील देशों में मानव और सामाजिक विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से संयुक्त राष्ट्र संघ ने 22 दिसंबर 2005 को ये दिवस मनाने की घोषणा की। इसके बाद से हर साल 20 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस मनाया जाता है।  एकजुटता से समाज में एकता और संबंधों की मनोवैज्ञानिक भावना पैदा होती है और ये लोगों को एक बंधन में बांधती है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आज के दिन शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि ”

विश्वभर के इतिहास में एकता को महान मानवीय गुण के रूप में चिन्हित किया गया है। भारतीय परंपरा में हमेशा एकता का सिद्धांत रहा है और इस विविधतापूर्ण संस्कृति वाले देश में इसी कारण सभी एक डोर से बंधे हुए हैं। दुनिया में सभी महान एवं बड़े कार्यो हेतु मानवीय एकता बहुत जरुरी है। मानव समाज के सामने उपस्थित विभिन्न समस्याओं जैसे गरीबी, भूखमरी, अशिक्षा, आतंकवाद को सामूहिक प्रयासों से ही हल किया जा सकता है और इसके लिए भी एकता और संगठित होना आवश्यक है। संघ के अनुसार एकजुटता उन मूलभूत मूल्यों में से है एक आवश्यक मूल्य है, जो अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के लिए आवश्यक हैं।