जूनियर को DGP बनाने पर आईपीएस का ट्वीट, लिखी यह बात

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। छत्तीसगढ़ में राज्य सरकार ने आईपीएस अधिकारी अशोक जुनेजा को डीजीपी बनाया है। उनकी नियुक्ति डीएम अवस्थी के स्थान पर की गई है। जुनेजा के डीजीपी बनने पर उनसे सीनियर आईपीएस अधिकारी आरके विज ने ट्वीट कर प्रेरणादायी बात लिखी है।

पंचायत सचिव को 20 हज़ार की रिश्वत लेेते लोकायुक्त की टीम ने किया गिरफ्तार

पुलिस की कार्यप्रणाली से नाराज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) ने गुरुवार को डीजीपी बदल दिए। 1986 बैच के डीएम अवस्थी की जगह 1989 बैच के आईपीएस अशोक जुनेजा को नया डीजीपी बनाया गया है। जुनेजा अभी एंटी नक्सल ऑपरेशन के महानिदेशक, छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल और एसटीएफ के चीफ थे। अवस्थी को छत्तीसगढ़ में बीजेपी सरकार की विदाई के साथ ही मुख्यमंत्री बनते भूपेश बघेल ने डीजीपी बनाया था। लेकिन बिगड़ती कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर भी सीएम डीजीपी से खुश नहीं थे। जुनेजा के डीजीपी बनने के बाद उनसे सीनियर अधिकारी आरके विज ने ट्वीट किया है। विज इस समय परिवार के साथ इंग्लैंड में छुट्टियां मना रहे हैं और वरिष्ठता के क्रम की अगर बात करें तो वह अवस्थी, स्वागत दास और संजय पिल्ले के बाद चौथे नंबर पर आते हैं।

इस ट्वीट में आरके विज ने लिखा है “जीवन में आपको कई हार का सामना करना पड़ेगा। लेकिन खुद को कभी हारने नहीं देना चाहिए।” अपनी कुशल कार्य प्रणाली के लिए जाने जाने वाले विज 31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं। इस बात की पूरी उम्मीद है कि उनको भूपेश बघेल कोई सम्मानजनक जिम्मेदारी सौंप सकते हैं। हालांकि पुलिस हैड क्वार्टर में स्पेशल डीजी आरके विज को डीजी बनाने की बेहद चर्चा थी और उनके काम करने का अंदाज भी सराहा जाता था। बावजूद इसके उनसे जूनियर अधिकारी को यह जिम्मेदारी सौंप दी गई। छत्तीसगढ़ की प्रशासनिक और राजनीतिक हलकों में इस बात को लेकर काफी चर्चा है कि आखिरकार विज कहां चूक गए और जुनेजा ने कहां बाजी मारी। अब मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आर के विज को क्या जिम्मेदारी सौपेंगे, इसका सबको इंतजार है।