JNU: हाईअलर्ट के बीच छात्रों का उग्र प्रदर्शन, पुलिस से भिड़े, छावनी में तब्दील कैंपस

नई दिल्ली।

अयोध्या फैसले के बाद जहां देशभर में सुरक्षा बढ़ा दी गई है वही फीस में बढ़ोतरी व अन्य कई मुद्दों को लेकर जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र सड़कों पर उतर आए और जमकर प्रदर्शन कर रहे है। बताया जा रहा है कि अंदर दीक्षांत समारोह चल रहा है और थोड़ी देर में कार्यक्रम में  शामिल होने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक पहुंचे हुए है। दिल्ली पुलिस लगातार छात्रों को रोकने की कोशिश कर रही है। विश्वविद्यालय के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। पूरा कैंपस छावनी में तब्दील हो गया है। बताया जा रहा है कि पुलिस और छात्रों के बीझ झड़प हो गई है।

दरअसल, आज सोमवार को दिल्ली के जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) में तीसरे दीक्षांत समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक शिरकत रहे हैं।छात्रों ने दीक्षांत समारोह का बायकॉट कर दिया है। छात्रों के प्रदर्शन के कारण सुरक्षा के मद्देनजर कैंपस में चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। प्रदर्शन कर रहे छात्र नेताओं का कहना है कि वे बीते कई दिनों से फ़ीस में बढ़ोतरी का विरोध कर रहे हैं। विश्वविद्यालय में बड़ी संख्या में छात्र ग़रीब परिवारों से आते हैं। ऐसे में ये छात्र कैसे अपनी पढ़ाई पूरी कर पायेंगे। 

आंदोलन में आईसा, एआईएसएफ़ और एसएफ़आई सहित कई छात्र संगठन शामिल हैं। छात्रों के प्रदर्शन को रोकने के लिए भारी संख्या में सीआरपीएफ और दिल्ली पुलिस के जवान तैनात हैं. प्रदर्शन कर रहे कुछ छात्रों को जवानों ने टांगकर बस में बैठाया है।छात्रों का कहना है कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं हो जातीं प्रदर्शन जारी रहेगा।

ये है छात्रों की मांगें :

फीस बढ़ोतरी का फैसला वापस लिया जाए।

हॉस्टल में छात्रों से कोई सर्विस चार्ज नहीं लिया जाए।

हॉस्टल में आने-जाने के लिए समय सीमा को खत्म किया जाए।

हॉस्टल में ड्रेस कोड नहीं लागू किया जाए।

नया हॉस्टल मैन्यू पूरी तरह रद किया जाए।