डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं मिलेगी कोरोना जैसे लक्षणों की दवा

सर्दी, खांसी , जुकाम, बुखार, बदन दर्द की दवा लेने के लिए दिखाना होगा डॉक्टर का पर्चा।

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण (Corona Infection) को देखते हुए दवा विक्रेताओं ने एक बड़ा और महत्वपूर्ण फैसला लिया है। मेडिकल दुकानदारों ने निर्णय लिया है कि अब कोरोना मरीज(Corona Patient)  में होने वाले लक्षणों खांसी, सर्दी, जुकाम, बदन दर्द आदि की दवाई बिना डॉक्टर के पर्चे पर नहीं मिलेगी।

पूरे देश की तरह छत्तीसगढ़ में भी अब कोरोना के नए मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं।  राजधानी रायपुर में भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। ऐसे में सावधानी रखना सबसे जरुरी उपाय है। इस बीच देखने में आया कि सर्दी, खांसी, जुकाम, बदन दर्द के मरीज मेडिकल स्टोर पर दवा खरीदने अधिक संख्या में पहुँचने लगे हैं।

ये भी पढ़ें – Corona update: हिमाचल प्रदेश में स्कूल-कॉलेज 26 जनवरी तक बंद, जारी रहेगी स्वास्थ्य सेवाएं

सर्दी, खांसी, जुकाम, बदन दर्द के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए रायपुर के दवा व्यापारियों ने बड़ा फैसला लिया है।  ऑल इंडिया रिटेल केमिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवराज गुरनानी ने कैमिस्ट साथियों को कॉन्फडरेशन ऑफ फार्मा डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेंद्र हरचंदानी ने छत्तीसगढ़ के दवा संघों को इस फैसले से सम्बंधित एक पत्र लिखा है।

ये भी पढ़ें – MP News: भोपाल से होकर जाने वाली ये ट्रेनें निरस्त, किराया होगा वापस, देखिए लिस्ट

पत्र मिलने के बाद छत्तीसगढ़  केमिस्ट एवं ड्रगिस्ट एसोसिएशन के महासचिव अविनाश अग्रवाल में सभी जिलों के अध्यक्षों और सचिवों को पत्र लिखकर कहा है कि अब कोई भी मेडिकल स्टोर बिना डॉक्टर के पर्चे के कोरोना के लक्षणों से जुड़े मरीजों को दवा नहीं देगा।

ये भी पढ़ें – कर्मचारियों और पेंशनरों को नए साल का तोहफा, अब मिलेगी यह सुविधा, ऐसे उठाएं लाभ

पदाधिकरियों ने कहा कि कोरोना में सर्दी, खांसी, जुकाम, बदन दर्द जैसे लक्षण होते हैं लेकिन कई मरीज ऐसे होते हैं जो टेस्ट नहीं करवाना चाहते या बाहर जाना चाहते हैं, ऐसे मरीज मेडिकल स्टोर से इन बीमारी की दवा लेकर लक्षणों को दबाते हैं जो बहुत खतरनाक है। यदि इस तरह के मरीज को यदि कोरोना हुआ तो दूसरे मरीजों तक फ़ैल सकता है इसलिए इस आदत को रोकना होगा।