कर्मचारियों के लिए महत्वपूर्ण खबर, मंत्रालय ने जारी किया आदेश, 10 जनवरी तक पूरा करना होगा कार्य, मिलेगा लाभ

Employees Order : अधिकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर है। दरअसल मंत्रालय द्वारा आदेश जारी किया गया है। जिसके तहत कर्मचारियों को बड़ी राहत देते हुए समय सीमा में वृद्धि की गई है। हालांकि मंत्रालय द्वारा स्पष्ट किया गया है कि समय सीमा में यह वृद्धि अंतिम है। इसके बाद कर्मचारियों को एचआरएमएस के माध्यम से एपीएआर भरने का मौका नहीं मिलेगा।

रेल मंत्रालय द्वारा रेल कर्मचारियों के HRMS के माध्यम से 2020-21 और 21 -22 के लिए ई-एपीएआर भरने तारीख को बढ़ाकर 10 जनवरी तक पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं। एचआरएमएस के एपीएआर मॉड्यूल के माध्यम से ई-एपीएआर को अंतिम रूप देने की प्रगति की समीक्षा ई-एपीएआर को अंतिम रूप देने की नियत तारीख की समाप्ति के बाद की गई है।

जारी आदेश में कहा गया है कि कई बार ई-एपीएआर को अंतिम रूप देने की नियत तारीख के विस्तार के बावजूद, सर्वर से संबंधित मुद्दों को हल करने और चौबीसों घंटे मॉड्यूल के कामकाज को सुनिश्चित करने के बावजूद काफी संख्या में एपीएआर विभिन्न चरणों में लंबित हैं। इसके अलावा विंडो को फिर से खोलने के अनुरोध के लिए बोर्ड के कार्यालय में कई अनुरोध प्राप्त हुए हैं।

इन अनुरोधों पर विचार करते हुए सक्षम प्राधिकारी द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि लंबित एपीएआर को अंतिम रूप देने के लिए एक अंतिम अवसर दिया जा रहा है।सीआरआईएस से प्राप्त वर्ष 2020-21 और 2021-22 के लिए एपीएआर की लंबितता अनुबंध-ए के रूप में संलग्न है।

महत्वपूर्ण तारीख :-

  • रिपोर्टिंग/समीक्षा करने/स्वीकार करने की समय सीमा – 26-31 दिसंबर, 2022
  • समीक्षा करने /स्वीकार करने की समय सीमा – 01-05 जनवरी, 2023
  • स्वीकार करने की समय सीमा – 06-10 जनवरी, 2023

जारी आदेश में कर्मचारियों को यह सलाह दी जाती है कि एपीएआर से संबंधित संबंधित अधिकारी उन अधिकारियों की सटीक पहचान करने के लिए सभी प्रयास करें। जिनके पास एपीएआर लंबित हैं और निर्धारित समय के भीतर पूरा करना सुनिश्चित करें।

इस संबंध में बोर्ड को एक अनुपालन रिपोर्ट प्रस्तुत करें।आदेश में स्पष्ट किया गया है कि इस समय सीमा के बाद भी एपीएआर के लम्बित होने को गंभीरता से लिया जायेगा तथा सिस्टम द्वारा तैयार अधिकारीवार लम्बित प्रतिवेदन नियन्त्रण अधिकारियों को उत्तरदायित्व निर्धारण हेतु भिजवाया जायेगा।

जारी आंकड़े के तहत हजारों कर्मचारियों को एपीएआर पूरा करना होगा

  • वर्ष – 2020-21 -2021-22
  • ई-एपीएआर की कुल संख्या – 1085230 -27845
  • अंतिम रूप से लंबित एपीएआर की संख्या- 1105799 -13163