उत्तर-पूर्वी क्षेत्रों को लेकर मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, AFSPA क्षेत्रों में बदलाव, जाने यहाँ  

गुरुवार को भारत सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला नागालैंड, आसाम और मणिपुर के लिए। दरअसल, भारत सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) के तहत अशांत क्षेत्रों (disturbed areas) को कम करने का फैसला लिया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। गुरुवार को भारत सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला नागालैंड, आसाम और मणिपुर के लिए लिया है। दरअसल, भारत सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) के तहत अशांत क्षेत्रों (disturbed areas) को कम करने का फैसला लिया है। आपको बता दें कि,  AFSPA सुरक्षा बलों को कहीं भी अभियान चलाने और बिना किसी वारंट के किसी को भी गिरफ्तार करने का हक देता है। यह किसी ऑपरेशन के गलत होने की स्थिति में सुरक्षा बलों को एक निश्चित स्तर की इम्यूनिटी भी देता है।

यह भी पढ़े…  NEET UG 2022: इंतजार खत्म! इस दिन से अभ्यार्थी कर पाएंगे रेजिस्ट्रैशन, NEET PG Counselling होल्ड पर      

गुरुवार को गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, “एक जरूरी कदम में, प्रधानमंत्री नरेंद्र के निर्णायक नेतृत्व (decisive leadership) में भारत सरकार ने दशकों बाद नागालैंड, असम और मणिपुर राज्यों में सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम (AFSPA) के तहत अशांत क्षेत्रों को कम करने का फैसला लिया है। AFSPA के तहत क्षेत्रों में कमी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा उग्रवाद (extremism) को खत्म करने और उत्तर -पूर्व (North-East) में टिकाऊ शांति लाने के लिए लगातार कोशिशों और कई समझौतों के कारण बेहतर सुरक्षा स्थिति और तेजी से विकास का रिजल्ट है।

गृह मंत्री ने यह भी कहा कि, पीएम नरेंद्र मोदी की अटूट प्रतिबद्धता (commitment) के लिए धन्यवाद, हमारा उत्तर-पूर्वी क्षेत्र, जो दशकों से उपेक्षित (neglected) था, अब शांति, समृद्धि और प्रारंभिक विकास के एक नए युग का गवाह बन रहा है। मैं इस महत्वपूर्ण अवसर पर पूर्वोत्तर के लोगों को बधाई देता हूं।