भाजपा

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। महाराष्ट्र विधानसभा (Maharashtra Assembly Mansoon Session 2021) का दो दिवसीय मॉनसूत्र सत्र आज सोमवार को जमकर हंगामे के साथ शुरु हुआ।कृषि कानून और ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) के समर्थन में हंगामा करने पर भाजपा के 12 विधायकों को एक साल के लिए निलंबित (12 BJP MLA Suspended) कर दिया गया है।पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने भी कहा कि सभी आरोप झूठे हैं। हम OBC रिजर्वेशन के लिए अपने 12 विधायक कुर्बान करने को तैयार है। BJP से किसी ने गाली नहीं दी, कहानियां बनाई जा रही हैं।

यह भी पढ़े.. निकाय चुनाव से पहले शिवराज सरकार का मास्टरस्ट्रोक! कैबिनेट में लाएगी यह अध्यादेश

इतना ही नहीं इन भाजपा विधायकों पर ओबीसी आरक्षण  के मुद्दे पर स्पीकर की कुर्सी पर विराजमान भाष्कर जाधव के साथ अर्मादित व्यवहार करने के भी आरोप लगे है। इन भाजपा विधायक में संजय कुटे, आशीष शेलार, हरीश पिंपले, योगेश सागर, गिरीज महाजन, अभिमन्यु पवार, अतुल भातखलकर, नारायण कुचे और बंटी बांगडीया शामिल हैं

इससे पहले विधानसभा ने इस मुद्दे पर एक प्रस्ताव पारित किया जिसमें केंद्र से 2011 का जनगणना डाटा उपलब्ध कराने को कहा गया। वही सत्र शुरु होने से पहले भाजपा विधायकों ने निकाय चुनावों में आरक्षण, विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव जल्द करवाने, MPSC परीक्षा के लिए समिति गठित करने, मराठा आरक्षण और किसानों के मुद्दे (Agricultural law) पर जमकर प्रदर्शन किया। विधानभवन की सीढ़ियों पर बैठकर भाजपा विधायक लगातार नारेबाजी करते रहे और करीब आधे घंटे बाद सदन में दाखिल हुए।

यह भी पढ़े.. Modi Cabinet Expansion: इस हफ्ते 17 से 22 नए मंत्री ले सकते हैं शपथ, इन नामों की चर्चा तेज

निलंबन पर महाराष्ट्र भाजपा विधायक आशीष शेलार ने कहा कि ठाकरे सरकार ‘तालिबान’ की तरह काम कर रही है। मैं इस कार्रवाई की निंदा करता हूं। न तो मैंने और न ही किसी अन्य विधायक ने भास्कर जाधव को गाली दी।बीजेपी के किसी भी सदस्य ने केबिन में गाली-गलौज नहीं की। मैंने उनसे माफी भी मांगी, इसके बावजूद उन्होंने हमें सस्पेंड कर दिया।