तिरुपति बालाजी के दर्शन करने पहुंचे मुकेश अंबानी, रहस्यमय है इस मंदिर का इतिहास

भारत के रिलायंस कंपनी के मालिक मुकेश अंबानी आंध्र प्रदेश में तिरुपति बाला जी के दर्शन को पहुंचे। जहां उन्होंने भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन किए।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट | भारत के रिलायंस कंपनी के मालिक मुकेश अंबानी आंध्र प्रदेश में तिरुपति बाला जी के दर्शन को पहुंचे। जहां उन्होंने भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन किए। इस दौरान उनके साथ राधिका मर्चेंट और रिलायंस रिटेल लिमिटेड के डायरेक्टर मनोज मोदी उनके साथ उपस्थित थे। बता दें कि, इस दौरान उन्होंने मंदिर में डेढ़ लाख करोड़ रुपए दान किए। साथ ही भगवान से परिवारवालों सुख और समृद्धि की कामना की और भगवान का आशीर्वाद भी लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि, मैं यहां पर तिरुमाला भगवान वेंकटेश्वर के दर्शन के लिए आया हूं और उनका आशीर्वाद मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें – Honda की नई SUV भारत के बाजारों में जल्द लेगी एंट्री, जानें कब होगी लॉन्चिंग

बता दें कि मंदिर प्रबंधक इसे और भी बेहतर बनाने का प्रयास कर रहे हैं। दरअसल इस मंदिर में देश ही नहीं बल्कि विदेशों से भी श्रद्धालु यहां भगवान के दर्शन करने पहुंचते हैं और अपने हैसियत के अनुसार चढ़ावा भी चढ़ाते हैं। यहां आम जनता से लेकर करोड़पति, फिल्म स्टार, बिजनेसमैन समेत सभी वर्ग के श्रद्धालु पहुंचते हैं।

तिरुपति बालाजी के दर्शन करने पहुंचे मुकेश अंबानी, रहस्यमय है इस मंदिर का इतिहास

यह भी पढ़ें – इस दिन लॉन्च होगा Lava Blaze Pro,10 हजार रुपये से कम होगी कीमत, जानें फीचर्स

बता दें कि दक्षिण भारत में स्थित यह मंदिर अपने आप में बहुत भव्य मानी जाती है। इस मंदिर की कई सारी रहस्यमई और चमत्कारी कहानियां हैं। जो कि पूरे दुनिया में प्रसिद्ध है। इस मंदिर में भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है। यह मंदिर आंध्र प्रदेश के चित्तौड़ जिले के तिरुमाला पर्वत के ऊपर स्थित है। जो कि तीर्थ स्थानों में से एक है।

तिरुपति बालाजी के दर्शन करने पहुंचे मुकेश अंबानी, रहस्यमय है इस मंदिर का इतिहास

यह भी पढ़ें – Honda की नई SUV भारत के बाजारों में जल्द लेगी एंट्री, जानें कब होगी लॉन्चिंग

ऐसी मान्यता है कि, यहां भगवान की प्रतिमा पर जो बाल लगे हैं वह असली है। जो कि हमेशा सॉफ्ट रहते हैं। स्थानीय लोगों का ऐसा मानना है कि, भगवान उनके बीच विराजमान रहते हैं। इसलिए हर वक्त पूरे विधिविधान के साथ उनकी पूजा-अर्चना की जाती है। लोगों का ऐसा भी मानना है कि, इस प्रतिमा से पसीना आता है। इसलिए मंदिर का तापमान बहुत ही कम रखा जाता है। इस मंदिर में फूल, दही, घी, दूध और मक्खन से पूजा की जाती है। जो कि मंदिर से 23 किलोमीटर दूर एक गांव से आता है। इस मंदिर की एक और खास बात यह है कि यहां भगवान की प्रतिमा के सामने जो दीप प्रज्ज्वलित होता है, वो बिना घी और तेल के स्वयं ही प्रज्ज्वलित होता है। इस रहस्य को अब तक कोई पता नहीं कर पाया।

तिरुपति बालाजी के दर्शन करने पहुंचे मुकेश अंबानी, रहस्यमय है इस मंदिर का इतिहास

यह भी पढ़ें – Bigg Boss 16 में दिखेंगी ‘साथ निभाना साथिया’ की अदाकारा जिया मानेक उर्फ गोपी बहु