जून में मुंबई में बड़ा सम्मेलन, देशभर से 4000 से अधिक विधायक होंगे शामिल,तैयारियां शुरू, कई मुद्दों पर होगी चर्चा

Pooja Khodani
Published on -
National Legislators Conference,

National Legislators Conference :  आगामी जून महीने में महाराष्ट्र के मुंबई में देश भर के विधायकों का सम्मेलन होने वाला है, जिसमें लगभग 4000 से ज्यादा विधायक शामिल होंगे।इसमें कई बड़े मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी।इस  सम्मेलन का आयोजन एमआईटी पुणे द्वारा किया जा रहा है। इस सम्मेलन में विधायिका से जुड़े कई अहम मुद्दों पर समानांतर सत्र चलेंगे।

देशभर के विधायक होंगे शामिल, तैयारियां शुरू

दरअसल, जून में मुंबई में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम को लेकर व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रहीं हैं।इस चार दिवसीय ‘राष्ट्रीय विधायक सम्मेलन – 2023’ की तैयारियोंं के सिलसिले में मुंबई में आज 11 मार्च को एक बैठक हुई, जिसे मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष गिरीश गौतम ने संबोधित किया। इसमें मध्यप्रदेश, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, हरियाणा, महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों के विधानसभा अध्यक्ष/सभापति सम्मिलित हुए। इसकी अध्यक्षता पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार ने की।

इस मौके पर गिरीश गौतम ने अपने संबोधन में कहा कि अलग-अलग परिवेश के लोग जब एक साथ बैठेंगे और अपने विचारों को साझा करेंगे तो ‘एक भारत’ की कल्पना साकार होगी।  सम्मेलन में मध्यप्रदेश विधानसभा के अधिक से अधिक विधायक भागीदारी दें, इसकी पूरी कोशिश की जा रही है। उन्होंने आसंदी से भी इस बात का आग्रह किया कि इस सम्मेलन में ज्यादा से ज्यादा विधायक शामिल हों।

4000 से ज्यादा विधायक होंगे शामिल

विधानसभा अध्यक्ष गौतम ने कहा कि इस कार्यक्रम में चार हजार से ज्यादा विधायक शामिल होंगे। आगामी 15 से 18 जून को मुंबई मे सारे प्रदेश के विधायकों का सम्मेलन हो रहा है, जिसमें कई बड़े मुद्दों पर चर्चा होगी। इस सम्मेलन में विधायिका से जुड़े कई अहम मुद्दों पर समानांतर सत्र चलेंगे। इसमें देश भर से लगभग चार हजार से ज्यादा विधानसभा सदस्यों के शामिल होने की संभावना है। सम्मेलन का आयोजन एमआईटी पुणे द्वारा किया जा रहा है।


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News