सरकार और किसानों की बातचीत बेनतीजा, 3 दिसम्बर को फिर होगी बैठक, जारी रहेगा आंदोलन

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि बैठक अच्‍छी रही और हमने फैसला किया है कि फिर से वार्ता 3 दिसंबर को होगी। हम चाहते थे कि एक छोटा समूह गठित किया जाए लेकिन किसान नेता चाहते थे कि वार्ता सभी के साथ हो,

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट| नए कृषि बिलों (Farmers Bill) को वापस लेने की मांग पर अड़े किसानों की मंगलवार को सरकार से हुई बातचीत बेनतीजा रही| अब अगली बातचीत 3 दिसंबर को होगी। किसान नेताओं का कहना है कि आंदोलन धरना प्रदर्शन (Farmers Protest) जारी रहेगा| इस बातचीत में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar), केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal), सोम प्रकाश और 30 किसान संगठनों (farmer organisations) के प्रतिनिधि शामिल हुए| यह बैठक नई दिल्ली के विज्ञान भवन में हुई| सरकार ने नए कानूनों पर चर्चा के लिए कमेटी बनाई जाने का प्रस्ताव रखा है, इसमें केंद्र, किसान और एक्सपर्ट शामिल होंगे|

दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री से मुलाकात के बाद किसान प्रतिनिधिमंडल के सदस्य चंदा सिंह ने कहा हमारा आंदोलन जारी रहेगा। सरकार से कुछ लेकर जाएंगे। सरकार अगर शांति चाहती है तो लोगों का मुद्दा हल करे। हम मुलाकात के लिए परसों फिर आएंगे | केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि बैठक अच्‍छी रही और हमने फैसला किया है कि फिर से वार्ता 3 दिसंबर को होगी। उन्‍होंने आगे कहा कि हम चाहते थे कि एक छोटा समूह गठित किया जाए लेकिन किसान नेता चाहते थे कि वार्ता सभी के साथ हो, हमें इससे कोई समस्या नहीं है।

केंद्रीय कृषि मंत्री तोमर ने मीडिया से चर्चा में कहा कि आज किसान यूनियन के नेता आए थे, भारत सरकार ने तीसरे चरण की वार्ता आज पूरी की है। हम सब ने निर्णय लिया है कि परसों वार्ता का चौथा चरण शुरू होगा| परसों तक ये लोग भी अपने मुद्दे लेकर आएंगे और सभी बिन्दुओं पर चर्चा की जाएगी। हम चाहते थे कि छोटा ग्रुप बने, लेकिन सभी किसान यूनियनों का कहना था कि सभी मिलकर बात करेंगे। सरकार को सभी से बात करने में भी परेशानी नहीं है|

लम्बे समय से चल रहे आंदोलन के बाद मंगलवार को किसान और सरकार के बीच बातचीत हुई| किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच करीब 4 घंटे तक बैठक चली| हालांकि ये बातचीत बेनतीजा रही| 3 दिसंबर को एक बार फिर किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच बैठक होगी| बैठक में किसानों के 35 प्रतिनिधियों से सरकार की चर्चा हुई है|