New Education Policy: पीएम मोदी ने किए कई बड़े ऐलान, बोले-गांवों तक पहुंचेगा ये कॉन्सेप्ट

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय साइन लैंग्वेज (indian sign language) को पहली बार एक भाषा विषय का दर्जा प्रदान किया गया है।

new-education-policy

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। 2020 में लागू की गई नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (New Education Policy) की पहली वर्षगांठ पर देश को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कई बड़े ऐलान किए है।पीएम मोदी ने कहा कि अब शहरों की तरह गांवों में भी बच्चों को प्ले स्कूल (Play School) की सुविधा मिलेगी। विद्या प्रवेश प्रोग्राम आज लॉन्च किया गया है, इसके जरिए वह गांव-गांव जाएगा। ये प्रोग्राम आने वाले समय में यूनिवर्सल प्रोग्राम के तौर पर लागू होगा और राज्य भी इसे जरूरत के हिसाब से लागू करेंगे। देश के किसी भी हिस्से में अमीर हो या गरीब, उसकी पढ़ाई खेलते और हंसते हुए और आसानी से होगी।

यह भी पढ़े.. Electricity: ऊर्जा मंत्री ने बिजली कंपनियों को दिए ये निर्देश, बोले- कार्ययोजना तैयार करें

करीब 24 मिनट लंबे उद्बोधन  (New Education Policy) में पीएम मोदी ने कहा कि मुझे खुशी है कि 8 राज्यों के 14 इंजीनियरिंग कॉलेज (Engineering College), 5 भारतीय भाषाओं- हिंदी – तमिल, तेलुगू, मराठी और बांग्ला में इंजीनियरिंग की पढ़ाई शुरू करने जा रहे हैं। इंजीनिरिंग के कोर्स का 11 भारतीय भाषाओं में ट्रांसलेशन के लिए एक टूल भी विकसित किया जा चुका है। इंजीनियरिंग के कोर्स का 11 भारतीय भाषाओं में ट्रांसलेशन के लिए टूल डेवलप किया जा चुका है। इससे इन भाषाओं के छात्रों (Student) को पढ़ाई में आसानी होगी।

पीएम मोदी ने कहा कि भारतीय साइन लैंग्वेज (indian sign language) को पहली बार एक भाषा विषय का दर्जा प्रदान किया गया है। अब छात्र इसे एक भाषा के तौर पर भी पढ़ पाएंगे। इससे भारतीय साइन लैंग्वेज को बहुत बढ़ावा मिलेगा, हमारे दिव्यांग साथियों को बहुत मदद मिलेगी। 15 अगस्त 2021 ( Independence day 15 August 2021) को हम आजादी के 75वें साल में प्रवेश करने जा रहे हैं। एक तरह से ये नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का इम्प्लिमेंटेशन आजादी के महापर्व का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। नई योजनाएं  (New Education Policy) नए भारत के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी।

यह भी पढ़े.. MP Board: 12वीं के रिजल्ट के बाद सामने आया मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान

पीएम मोदी ने कहा कि आज बन रही संभावनाओं को साकार करने के लिए हमारे युवाओं को दुनिया से एक कदम आगे होना पड़ेगा, एक कदम आगे का सोचना होगा।हेल्थ हो, डिफेंस हो, इनफ्रास्ट्रक्चर हो, टेक्नालॉजी हो, देश को हर दिशा में समर्थ और आत्मनिर्भर होना होगा। हमने-आपने दशकों से ये माहौल देखा है जब समझा जाता था कि अच्छी पढ़ाई करने के लिए विदेश ही जाना होगा।लेकिन अच्छी पढ़ाई के लिए विदेशों से स्टूडेंट्स भारत आयें, बेस्ट institutions भारत आयें, ये अब हम देखने जा रहे हैं: